जानिये जोधपुर के किस अस्पताल में कितने बैड खाली और क्या है भविष्य की संभावनाएं

बेलगाम होता कोरोना संक्रमण अब व्यवस्थाओं पर भी भारी पड़ रहा है। शनिवार को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1265 रहा और इसी के साथ जिले में एक्टिस केस की संख्या 7284 हो गई है जो कि नवम्बर में पीक पर रही संख्या को भी पार कर गई। कोरोना की लहर जो अभी चल रही है, उसमें संक्रमित होने की गति काफी अधिक है।

By: Avinash Kewaliya

Updated: 18 Apr 2021, 12:26 AM IST

जोधपुर।
बेलगाम होता कोरोना संक्रमण अब व्यवस्थाओं पर भी भारी पड़ रहा है। शनिवार को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1265 रहा और इसी के साथ जिले में एक्टिस केस की संख्या 7284 हो गई है जो कि नवम्बर में पीक पर रही संख्या को भी पार कर गई। कोरोना की लहर जो अभी चल रही है, उसमें संक्रमित होने की गति काफी अधिक है। इसीलिए तेजी से अस्पताल भर रहे हैं। एम्स, एमडीएम और कई निजी अस्पतालों में भी ‘नो-बैड’ की स्थिति आ गई है। प्रशासन तमाम प्रयास कर रहा है लेकिन अस्पताल हाउसफुल की स्थिति से निपटने में हर दिन स्थिति बिगड़ती जा रही है। 430 लोगों को डिस्चार्ज भी किया गया।

अस्पताल में भर्ती होने वालों की स्थिति

- एक हजार मरीज अभी जिले के अस्पतालों में भर्ती
- 50 से 80 लोग अस्पतालों में भर्ती हो रहे।

- 2-3 दिन में हाउसफुल हो सकते हैं अस्पताल

निजी अस्पतालों की स्थिति
- 350 निजी अस्पताल में अभी भर्ती है

- 150 बैड की क्षमता बढ़ाने पर फोकस है
- कम्युनिटी हॉल या पुराने अस्पताल भी संचालित किए जा सकते हैं।

एमडीएम

- 450 मरीज भर्ती चल रहे
- क्षमता से अधिक चल रहे

- 400 की क्षमता और बढ़ा सकते हैं

एमजीएच
- 170 भर्ती चल रहे

- 100 बढाए हैं आज बैड
- एमजीएच डेडीकेटेड कोविड अस्पताल होगा

- 400 की क्षमता आने वाले दिनों में करने की तैयारी है

एम्स
- 180 संक्रमित अभी एम्स में भर्ती चल रहे

- 200 तक बैड किए हैं
- 230 बैड तक यहां विस्तार हो सकता है

बोरानाडा

- ऑक्सीजन पाइप लग चुके हैं और प्रेशर भी आ रहा है
- 400 क्षमता अभी तैयार है और 700 तक उसका विस्तार कर सकते हैं

- 15-20 संक्रमित ऐसे भर्ती हैं जिन्होंने होम आइसोलेशन तोड़ा है।

ये तीन अस्पताल भी
- मंडोर, पावटा व रेजीडेंसी अस्पताल

- 50-50 तीनों अस्पतालों में मरीज भर्ती किए जा सकेंगे
- यहां को-मॉर्बिलिटी वाले मरीजों को रखा जा सकता है।

COVID-19 COVID-19 virus
Show More
Avinash Kewaliya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned