लीवर सिरोसिस: खाना-पीना बंद किया तो और पड़ोगे बीमार

 

 

 

लीवर सिरोसिस बीमारी पर डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी विभाग का अध्ययन

पत्रिका अलर्ट

By: Abhishek Bissa

Published: 04 Oct 2021, 11:39 PM IST

जोधपुर. शरीर के मुख्य अंग में शुमार लीवर का रोग भी कॉमन बनता जा रहा है। लीवर को धीमी गति से खराब करने वाली लीवर सिरोसिस बीमारी में कई लोग एकदम से खाना-पीना छोड़ खुद को नुकसान पहुंचा रहे हैं। खाने-पीने व अन्य प्रोटीन युक्त शुद्ध खाद्यान्न बंद करने से कइयों की मशल्स कमजोर होने की समस्या तक सामने आई है। इस बात का खुलासा डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी विभाग में हुए अध्ययन में हुआ हैं। कमजोर मशल्स के साथ लीवर सिरोसिस ग्रसित मरीज ज्यादा दिन सरवाइव तक नहीं कर पाता। इन दिनों एमडीएम अस्पताल के गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी विभाग में आधे बैड लीवर सिरोसिस बीमारी के मरीजों से भरे हुए हैं।

गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी विभाग के वरिष्ठ आचार्य डॉ. सुनील दाधीच ने कहा कि सिरोसिस बीमारी में लीवर सिकुड़ जाता है। इससे पेट में पानी भरना, खून की उल्टी होना व इंफेक्शन, बेहोशी यानी के लीवर कोमा आदि तक की समस्याएं आती है। यहां तक की कई बार कैंसर तक मरीजों को हो जाता है। इस बीमारी में एकमात्र रास्ता लीवर प्रत्यारोपण या मौजूदा लीवर स्थिति को सही करना ही उपचार है।

200 एमएल शराब 10 साल से अधिक समय तक पीना घातक

अध्ययन में पाया गया कि जो लोग 10 साल से अधिक समय तक हर रोज 200 एमएल शराब का सेवन कर रहे हैं, उन्हें लीवर सिरोसिस का सर्वाधिक खतरा है। इसके बाद डायबिटीज व मोटापा भी बड़ा कारण है। हेपेटाइटिस बी व सी वायरस बीमारी के कारण बनते हैं।

सारकोपिनिया ले रहा मरीजों की जान
अध्ययन में स्पष्ट हुआ कि सारकोपिनिया यानी जिनकी मशल्स कमजोर है, वे लोग लीवर सिरोसिस बीमारी में लंबे समय तक जिंदा नहीं रह पाते। गेस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट डॉ. दाधीच के अनुसार इन मरीजों में कॉम्पिलिकेशन भी ज्यादा रहते है। मशल्स वीकनेस दो तरह की होती है। इसमें एक तो कुछ मरीजों की मशल्स पतली हो जाती है। दूसरा, जो मरीज मोटे होते है, घूमते-फिरते नहीं है, उनकी मशल्स कमजोर होकर लीवर का साथ नहीं दे पाती। कुल मिलाकर मशल्स मजबूत हैं तो व्यक्ति लीवर सिरोसिस से अच्छे ढंग से लड़ पाता है।

Abhishek Bissa Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned