टिड्डी अलार्म: संयुक्त राष्ट्र की मौजूदगी में भारत-पाक की बैठक कल

टिड्डी अलार्म: संयुक्त राष्ट्र की मौजूदगी में भारत-पाक की बैठक कल
टिड्डी अलार्म: संयुक्त राष्ट्र की मौजूदगी में भारत-पाक की बैठक कल

Gajendra Singh Dahiya | Updated: 17 Sep 2019, 11:59:00 PM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

jodhpur news

desert locust

- पाकिस्तान में टिड्डी अनियंत्रित, लगातार आ रहे टिड्डी दल
- आज से हैण्ड हेल्ड मशीनों के साथ 70 टीमें अतिरिक्त मैदान में

जोधपुर. दक्षिण एशिया में टिड्डी की अलार्मिंग स्थिति को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएनओ) के कृषि एवं खाद्य संगठन (एफएओ) के प्रतिनिधि व विश्व में मरुस्थलीय टिड्डी के विशेषज्ञ कीथ क्रीसमेन गुरुवार को पाकिस्तान के खोखरापार में होने वाली भारत-पाक बॉर्डर मीटिंग में भाग लेंगे। भारत-पाक की बैठक में पहली बार यूएनओ शामिल हो रहा है, जिसके कारण पाकिस्तान ने एक सप्ताह पहले ही बैठक की मंजूरी दे दी, जबकि पिछले महीने मुनाबाव में हुई बैठक में 12 घण्टे पहले ही भारत को सूचित किया गया था। बैठक में इस बार भारत की ओर से देश के प्लांट प्रोटक्शन डायरेक्टर राजेश मलिक भाग लेंगे। टिड्डी से निपटने के लिए यूएनओ पेस्टीसाइड सहित अन्य रणनीति पर दिशा निर्देश दे सकता है।


एफएओ की ओर से 13 सितम्बर को जारी ताजा बुलेटिन के अनुसार पूरे विश्व में भारत के पश्चिमी राजस्थान में टिड्डी का प्रकोप अधिक है। छोटे टिड्डी दल के अलावा व्यस्क, हॉपर्स की भरमार है। पाकिस्तान के कुछ ही क्षेत्र में टिड्डी बची है। यमन में भी हालत खस्ता है। अफ्रीका में फिर से टिड्डी की समर ब्रीडिंग होने से वहां भी टिड्डी वापस आ गई है। सऊदी अरब के लाल सागर के हिस्से में, सूड़ान के अधिकांश हिस्से, इरिट्रिया, ईथोपिया, सोमालिया, माली, चाड, अल्जीरिया, ईरान में टिड्डी है। ईथोपिया और जिबूती में टिड्डी पर एयरक्राफ्ट से स्प्रे किया जा रहा है।

सुबह 9.30 होगी बैठक
पाकिस्तान के खोखरापार में सुबह 9.30 उच्च स्तरीय बैठक होगी। भारत की ओर से मलिक के साथ, संयुक्त निदेशक डॉ. जेपी सिंह, उप निदेशक डॉ. केएल गुर्जर सहित बीएसएफ के अधिकारी होंगे। बैठक में पाकिस्तान कृषि विभाग के उच्चाधिकारी शामिल होंगे। कीथ क्रिसमेन रोम से आएंगे। वे भारत, पाक, ईरान और अफगानिस्तान के क्षेत्रीय संगठन स्वेग के कार्यकारी सचिव भी है।

टिड्डी से निपटने के लिए अब हैण्ड हेल्ड मशीनें उतारी
जैसलमेर, बीकानेर, बाड़मेर, जोधपुर व चूरू सहित पश्चिमी राजस्थान के कई हिस्सों में टिड्डी से निपटने के लिए टिड्डी चेतावनी संगठन (एलडब्ल्यूओ) की 45 टीमें चार पहिया वाहनों के साथ मैदान में है। पाकिस्तान लगातार टिड्डी दल आते देख बुधवार से अब हैण्ड हेल्ड मशीनें मैदान में उतारी जा रही है। एलडब्ल्यूओ के पास हाथ से स्पे्र करने वाली 70 मशीनें हैं, जिसकी सहायता से हॉपर्स पर स्प्रे किया जाएगा। मशीनों की साफ-सफाई कर इसे तैयार कर लिया गया है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned