video : रसद विभाग ने आरटीआई को बनाया फुटबॉल

Jitendra Singh Rathore

Updated: 26 Feb 2018, 08:55:23 AM (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर . पिछले एक साल से लम्बे समय से जिला रसद विभाग सूचना के अधिकार (आरटीआई) का मखौल उड़ा रहा है। सूचना नहीं मिलने पर आवेदक तीन बाद कलक्टर के पास अपीलें कर चुका है और कलक्टर ने रसद विभाग को सूचना देने के आदेश भी दे रखे हैं। बार-बार टरकाने के बाद रसद विभाग ने दबाव में अब सोमवार को आवेदक को सूचना का अवलोकन करने के लिए बुलाया है लेकिन इसमें भी नियम विरूद्ध पेच डाल दिया कि आवेदक को निरीक्षण के पश्चात चाही गई प्रतिलिपियों का फोटोकॉपी शुल्क देना पड़ेगा जबकि आरटीआई एक्ट में इसकी मियाद केवल 30 दिन होती है।

यह है मामला बीजेएस निवासी अश्विनी अरोड़ा ने 12 जनवरी 2017 को जिला रसद विभाग प्रथम में आरटीआई के जरिए कुछ सूचनाएं मांगी। इसमें जोधपुर शहर के विभिन्न वार्डों में स्थित राशन की दुकानों में गेहूं, शक्कर, केरोसनी के स्टॉक रजिस्टर, मैनुअल वितरण रजिस्टर और पोस मशीन के विवरण की साल 2016 की सत्यापित प्रतिलिपियां मांगी। इसके अलावा और भी विभिन्न सूचनाएं मांगी। रसद विभाग ने जवाब में कहा कि उनके कार्यालय में यह प्रमाणित प्रतियां उपलब्ध नहीं है और राशन डीलर्स से वह मांग नहीं सकता। विभाग ने राशन डीलर को निजी व्यक्ति बता दिया जबकि आरटीआई एक्ट-2005 में राशन डीलर को लोक सेवक की श्रेणी में डाला गया है। अरोड़ा ने 11 मई को इसकी अपील कलक्टर को की। कलक्टर ने 13 जून 2017 तक अपीलार्थी को सूचनाएं देने के निर्देंश दिए लेकिन रसद विभाग पर जूं तक नहीं रेंगी। अरोड़ा 13 जून, 28 जुलाई, 28 सितम्बर को फिर कलक्टर के सामने पेश हुआ लेकिन नतीजा सिफर रहा। अब 14 फरवरी 2018 को रसद विभाग ने अरोड़ा को पत्र लिखकर 26 फरवरी को सूचना का अवलोकन करने बुलाया है। नियम विरुद्ध शुल्क मांगा आरटीआई एक्ट के अनुसार अगर आवेदक को 30 दिन के भीतर संबंधित विभाग सूचना देने में विफल रहता है तो इसके बाद सूचना की प्रतियां आवेदक को नि:शुल्क देनी पड़ती है लेकिन रसद विभाग एक साल बाद भी शुल्क मांग रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned