scriptMedicines are not reaching the covid infected, many are asking for the | कोविड संक्रमितों तक पहुंच ही नहीं रही दवाएं, कइयों से फोन पर ही कुशलक्षेम पूछ रहे | Patrika News

कोविड संक्रमितों तक पहुंच ही नहीं रही दवाएं, कइयों से फोन पर ही कुशलक्षेम पूछ रहे

 



कागजों में संक्रमित गिन रहे, सुध लेने में बरती जा रही कोताही

जोधपुर

Published: January 14, 2022 01:31:17 am

जोधपुर. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीमें कई घरों में पहुंच ही नहीं रही है। कइयों से महज फोन पर ही जिम्मेदार बात कर कन्नी काट रहे हैं। जबकि राज्य सरकार की ओर से अस्पतालों में नि:शुल्क दी जाने वाली दवाएं ही इन होम आइसालेटेड मरीजों को देनी होती है। उसके बावजूद टीमें उनके घर में दस्तक नहीं दे रही हैं। बगैर स्वास्थ्य विभाग की टीमों के आए ही मरीज अपना आइसोलेशन पीरियड तक खत्म कर चुके हैं। इनके पास अब तक कोई टीम नहीं पहुंची है।
कोविड संक्रमितों तक पहुंच ही नहीं रही दवाएं, कइयों से फोन पर ही कुशलक्षेम पूछ रहे
कोविड संक्रमितों तक पहुंच ही नहीं रही दवाएं, कइयों से फोन पर ही कुशलक्षेम पूछ रहे
पत्रिका ने जानी हकीकत
पत्रिका टीम को लगातार शिकायतें आ रही थी कि उनके पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग से उनके घर कोई नहीं आया। टीम ने फोन लगाकर इसकी हकीकत जानी। किसी ने कहा कि उनके पास टीम आ गई। किसी ने कहा कि दवाएं नहीं आई, लेकिन कईयों के पास फोन आते रहे। तो किसी के पास संक्रमित हो जाने के 4-5 दिन बाद फोन आया।
केस-1

वीर मोहल्ला निवासी 13 वर्षीय बालक पॉजिटिव आया। उसकी मां के अनुसार सीएमएचओ ऑफिस से एड्रेस कंफर्म करने के लिए कॉल छठे दिन आया। दवाएं आदि कुछ नहीं दी गई। उनके बच्चे को हल्का सा जुखाम था। इस कारण उसने कोरोना टेस्ट कराया।
केस-2

प्रतापनगर से एक कॉलोनी निवासी 36 वर्षीय महिला संक्रमित आई। उनके परिजन ने कहा कि वे 8 को एमजीएच दिखाने गए थे, पथरी की शिकायत थी। उस दरमियां कोरोना जांच करवाई तो वे पॉजिटिव निकली। उनके पास केवल हेल्थ विभाग से कॉल आया। बाकी दवाइयां आदि देने कोई नहीं आया।
केस-3
सरस्वती नगर 56 वर्षीय महिला पांच-छह दिन पहले पॉजिटिव आई थी। इसके पति ने बताया कि उनके घर किसी प्रकार से मेडिकल टीम नहीं आई। उन्होंने बताया कि अब काफी हद तक उनकी पत्नी की तबीयत सही है, लेकिन अभी हल्का पेट दर्द है।
निगम व पुलिस का नहीं मिल रहा सहयोग
स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार शहर के विभिन्न क्षेत्रों में संक्रमितों के घर हेल्थकर्मी फोन या दवा देने के रूप में पहुंच रहे हैं। लेकिन संक्रमित घर में है या बाहर घूम रहा है, ये जानने के लिए संबंधित थानों से उनके घर कोई नहीं पहुंच रहा। जबकि नगर निगम की टीमें भी कइयों को टच नहीं कर रही है। जबकि समन्वयक से कार्य करने के प्रशासन के सख्त निर्देश है।
.....................................
सीएमएचओ डॉ. बलवंत मंडा से सीधी बात

पत्रिका-शिकायत हैं कि टीमें संक्रमितों के घर नहीं पहुंच रही है। टीमें विलंब से पहुंच रही है। रैपिड रेस्पांस की कितने टीमें है?सीएमएचओ- हमने नौ जोन विभाजित कर रखे हैं। इनके साथ आरआरटी इंचार्ज लगे हुए हैं। पुराने काम किए हुए नर्सिंग स्टाफ साथ लगे हुए हैं। हर वार्ड में दो-दो सीएचए लगे हुए हैं। कुल 320 सीएचए लगे हुए हैं। एक सीएचए वैक्सीनेशन व दूसरा आरआरटी में लगा रखा है। पत्रिका-क्या केवल फोन पर सुध ली जा रही है?सीएमएचओ- फोन कॉल अलग-अलग तरीके से होते है। एक हमारे ऑफिस से और दूसरा संक्रमित का एडे्रस वगैरह लेती है। जोनल आरआरटी से फोन होता है। सीएचए संबंधित संक्रमित तक पहुंचता है। कई बार डिले होता है, लेकिन हमारे कोशिश पूरी रहती है हम उस व्यक्ति तक पहुंचे। कई जनों के नंबर सही नहीं होते। कई तो फोन भी नहीं उठाते। पत्रिका-किसी व्यक्ति तक टीम न पहुंचे तो वो क्या करे?
सीएमएचओ- जिस व्यक्ति तक टीम नहीं पहुंची है। वह व्यक्ति हमारे कंट्रोल ऑफिस 0291-2511085 पर कॉल करें। टीम उसके पास पहुंच जाएगी।

पत्रिका-संक्रमितों तक पहुंचने के लिए वार्ड अनुसार व खंड अनुसार टीमें हैं, फिर शिकायतें क्यों आ रही?
सीएमएचओ- हमारे कोशिश पूरी हैं कि टीम सभी जगह पहुंचे। मधुबन जोन व परकोटा जोन में काफी ज्यादा केसेज हैं। कुछ ऐसे एरिया हैं, वहां बिलकुल केसेज नहीं है। कइयों को एक-दो केसेज तो कइयों के पास 10-10 केस संक्रमित को टच करने के लिए आ रहे है। चाहे वह दवा ले या न लें, हमारे कोशिश रहती है कि उस तक दवा पहुंचाएं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

Punjab Election 2022: गठबंधन के तहत BJP 65 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, जानिए कैप्टन की PLC और ढींढसा को क्या मिलाराष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमकोरोना से ठीक होने के बाद ऐसे रखें अपने सेहत है ख्यालUP election 2022 - सपा ने जारी की विधानसभा प्रत्याशियों की सूचीएनएफएसयू का साइबर डिफेंस सेंटर अब आईएसओ-आईसी प्रमाणित, बनी देश की पहली लैब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.