मोबाइल ओपीडी पहुंचेगी हर मोहल्ले में, बंद स्क्रीनिंग फिर शुरू होगी

- शादियों में संख्या नियंत्रण के लिए 25 अधिकारी फ्लाइंट स्क्वायड में लगाए

By: Avinash Kewaliya

Published: 22 Nov 2020, 08:51 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर.
कोरोना संक्रमण को नियंत्रण में लाने के लिए प्रशासन ने कुछ पुरानी बंद हो चुकी व्यवस्थाओं को फिर से शुरू करने का दावा किया है तो कुछ नवाचार भी दर्शाए हैं। खास बात आइएलआइ लक्षण वाले मरीजों तक अब फिर से प्रशासन खुद पहुंचने की योजना बना रहा है। वहीं शादियों में संख्या नियंत्रित रखने के लिए भी रोडमैप बनाया है।
जिला कलक्टर इंद्रजीतसिंह के अनुसार शादियों के सीजन को देखते हुए ऐहतियात ज्यादा बरतनी पड़ रही है। पुलिस के साथ मिकलर 20 से 25 अधिकारी की ड्यूटी लगाई है, जो कि फ्लाइंग स्क्वायड की तरह कार्य करेंगे। यहां भी शिकायत मिली या स्वैच्छा से भी सावों वाले दिन आकस्मिक जांच की जाएगी। इधर, राज्य सरकार के गृह विभाग ने 100 व्यक्तियों की अधिकतम स्वीकृति शादी-समारोह के लिए दी है। इसमें आयोजकों को वीडियोग्राफी करवाना आवश्यक है और जरूरत पडऩे पर प्रशासन भी वीडियोग्राफी करवा सकता है।
पांच दिन का किट देगी मोबाइल ओपीडी
ऐसे क्षेत्र जहां संक्रमित ज्यादा आ रहे हैं वहां मोबाइल ओपीडी का दौरा होगा। इसमें एक एमओ और नर्सिंग स्टाफ होगा। जो कि आइएलआइ लक्षण वाले मरीजों की स्क्रीनिंग करेगा और उन्हें पांच दिन की दवाइयों का नि:शुल्क किट देगा। साथ ही अस्पताल में रेमडीसीवर लगाने के लिए मरीजों को पूरे दिन नहीं रोका जाएगा। तीन से चार घंटे में जरूरत के अनुसार दवाई देकर घर भेजेंगे। इसके अलावा पावटा सेटेलाइट, रेजीडेंसी रोड डिस्पेंसरी और संक्रामक रेाग संस्थान का उपयोग पोस्ट कोविड केयर सेंटर के रूप में होगा।

COVID-19

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned