मैली क्रियाओं के शक में कर दी थी बाबू पहलवान की हत्या, सामने आई यह बातें

Jitendra Singh Rathore

Publish: May, 18 2018 09:44:59 AM (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India

 

जोधपुर . विजय चौक में किसान छात्रावास के सामने मकान में बाबू पहलवान की हत्या का पांच माह बाद गुरुवार को पर्दाफाश कर सदर कोतवाली थाना पुलिस ने दो चचेरे भाइयों सहित चार व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि बाबू के तांत्रिक क्रियाकलाप व जादू टोनों से परेशान होकर दोनों भाइयों ने अपने दो साथियों की मदद से हत्या की थी। आरोपियों को अंदेशा है कि गत वर्ष बहनोई की आकस्मिक मौत में भी मृतक की मैली क्रियाओं की भूमिका थी।


बहनोई की मौत पर भी संदेह

जांच में यह भी सामने आया कि आरोपी भाइयों की बहन शादी सालावास में कांग्रेस नेता भंवरलाल वैष्णव से रखी थी। कुछ समय पहले भंवरलाल की अकस्मात मृत्यु हो गई थी। पत्नी को अंदेशा था कि बाबू की मैली क्रियाओं से अकस्मात मौत हुई है।


आरोपी बोला, 'बापू' को तकलीफ में देख परेशान हो गया था

रणवीर कई वर्षों से कोटा में जितेन्द्र की होटल व विद्यार्थियों के लिए सप्लाई होने वाले खाने का कामकाज देखता है। वह जितेन्द्र को बापू कहता है। जितेन्द्र घर में अशांति की वजह से परेशान था और इसके पीछे बाबू की मैली क्रियाओं को वजह मानता था। आरोपी रणवीर उसे हर समय परेशान देखता था। पुलिस पूछताछ में रणवीर ने बताया कि वह बापू को रोज तकलीफ में देखता था तो खुद भी परेशान हो जाता था। इसीलिए उसने बाबू को ठिकाने लगाने की सोची। इसके लिए उसने अपने साथी दौलतराम को साथ ले लिया था।


हत्या करते देख दोनों भाई कमरे से भागे

चारों आरोपी 20 दिसम्बर को जोधपुर पहुंचे व पावटा चौराहे के पास किसान भवन में ठहरे थे। पुलिस को किसान भवन से चारों की जानकारी मिल चुकी थी। 21 दिसम्बर को वे हत्या के लिए विजय चौक पहुंचे थे, जहां बाबू अकेले ही व्हील चेयर पर मिला। रणवीर व दौलतराम ने गमछे से उसका गला घोंटना शुरू किया तो दोनों भाई डरकर कमरे से बाहर आ गए थे। पीछे से दोनों ने पहले गला घोंटा था। बाबू के निढाल होते ही चारों भाग निकले थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned