आज 13 तारीख को जाने कितना शुभ-अशुभ अंक 13 का रहस्य

जेके भाटी/जोधपुर . 13 का आंकड़ा है ही ऎसा।

शुभ-अशुभ का भय घेरने लग जाता है।

By: Jay Kumar

Published: 13 Jul 2019, 12:49 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India


जेके भाटी/जोधपुर . 12 माह बीत जाते हैं और गिनती फिर एक से शुरू हो जाती है। यहां 12 के बाद 13 नहीं आता है। लेकिन 13 का आंकड़ा है ही ऎसा।जब-जब सामने आता है, दुनिया विस्मय और रहस्य के सागर में गोते लगाने लग जाती है। शुभ-अशुभ का भय घेरने लग जाता है।ज्योतिष सलाहकार नेहा शर्मा बता रही है अंक 13 के बारे में क्या कहती हैं दुनियाभर की तमाम धारणाएं और गणनाएं-

 

12 से 13 तक
ज्योतिष शास्त्र को तो मनुष्य के जन्म के समय, तिथि और अन्य सबंधित आंकड़ों की गणना मात्र से उसके संपूर्ण जीवनकाल की गणना करने में सक्षम माना गया है। समय की गणना करने में अंक ज्योतिष जैसी अन्य विधाएं भी प्रचलन में रही हैं। 60 सेकंड का एक मिनट, 60 मिनट का एक घंटा, 12 घंटों का दिन, 12 घंटों की रात, 12 महीनों का एक साल। इस तरह 365-1/4 दिनों के एक साल में जीवन एक-एक सेकंड कर घटित होता है। रोचक बात यह है कि सटीक 12-12 घंटों के दिन-रात और 12 महीनों का कहे जाने के बावजूद एक साल का अंत सटीक 12 पर नहीं होता है। 13 पर होता है। क्योंकि एक साल 365+1/4 यानी 365 दिन + चौथाई दिन का होता है। इससे अंदाजा लगा सकते हैं आप अंक 13 के जलवे का।


नंबर ऑफ लाइफ
जहां कुछ संस्कृतियों में 13 को नंबर ऑफ डेथ कहा गया है वहीं कुछ में इसे "नंबर ऑफ लाइफ" माना गया है। ब्राजील में कोपेरस धर्म को मानने वाले 13 को शुभ मानते हैं। वहां इसे नंबर ऑफ लाइफ माना जाता है। वे कहते हैं कि यह मानवता की रक्षा का परिचायक है। वे इसे नंबर ऑफ गॉड यानी भगवान का अंक मानते हैं।

नंबर ऑफ डेथ
अंक शास्त्र में 13 को नंबर ऑफ डेथ भी कहा गया है। इनमें कहा गया है कि 13 राहु का अंक है जो कि एक राक्षस ग्रह है। इनके अनुसार 13 का कुल योग 1+3 = 4 है। मूलत: 4 को भी नंबर ऑफ डेथ और राहु का अंक कहा गया है। पश्चिम में उस वर्ष को बहुत अशुभ माना जाता रहा है जिसमें 12 की जगह कुल 13 पूर्णिमा हो। सामान्यतया भारतीय पंचांग में कृष्ण या शुक्लपक्ष में अक्सर 15 दिन होते हैं। लेकिन किसी पक्ष में कोई तिथि क्षय हो जाने की स्थिति में 14 दिन या तिथि वृद्धि होने पर 16 दिन भी हो जाते हैं। कभी-कभी चंद्र और सूर्य की स्पष्ट गणित प्रक्रिया के कारण किसी पक्ष में दो बार तिथि का क्षय हो जाने से 13 दिन का पक्ष भी आ जाता है।

 

शैतान का अंक
ईसाइ धर्म में ऎसे कुछ घटनाक्रमों का उल्लेख है, जिससे 13 का अंक इस धर्म को मानने वालों के लिए शैतान का अंक है । कहा जाता है कि उस दिन 13 तारीख थी जब ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया था। उन्हें जिन लोगों ने सूली पर चढ़ाया था उनकी संख्या 13 थी। यही नहीं, ईसा मसीह ने खुद को सूली पर चढ़ाए जाने से पहले जो अंतिम भोजन किया था, जिसे लास्ट-सपर कहा गया है, उस मेज पर ईसा सहित कुल 13 लोग ही शामिल थे। लिहाजा ईसाई 13 को अशुभ मानते हैं।

 

कीरो कहते हैं बेहद शुभ है 13 अंक
अनुकूल योग होने पर 13 को बेहद करिश्माई अंक बताया गया है। ज्योतिष शास्त्र और अंक शास्त्र में इसे कर्म का प्रतीक भी कहा गया है। यानी जैसा कर्म, वैसा फल। 13 का मूल अंक 4 है, जिसे निर्माण का प्रतीक भी बताया गया है। इस अंक को न्यूमेरोलोजी में मास्टर-नंबर की पदवी दी गई है। कहा गया है की अनुकूल होने पर यह सबसे करिश्माई अंक साबित होता है और इसे न केवल सौर मंडल बल्कि सम्पूर्ण सृष्टि का सहयोग मिलता है।

 

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned