PUC के फेर में अटके वाहन चालक, राहत की उम्मीद भी जेब पर पड़ रही भारी

डीजल के 12 हजार 966 और पेट्रोल के 11 हजार 507 में से 957 वाहनों की हुई पीयूसी फेल

By: kunal purohit

Published: 24 May 2018, 04:41 PM IST

जोधपुर . परिवहन मुख्यालय ने राज्य सरकार के निर्देश पर प्रदेशभर में पीयूसी को ऑनलाइन तो कर दिया, लेकिन बिना पैनल्टी वाहन चालकों (जयपुर को छोड़कर) को पीयूसी करवाने का मौका तक नहीं दिया। अभी भी जिले में केवल 24 हजार 473 चालकों ने वाहन की पीयूसी करवाई है। अधिकांश वाहन चालक केवल पीयूसी के साथ में लगने वाली पैनल्टी पूछ कर ही जा रहे हैं। उनको इंतजार केवल इस बात का ही है कि जिस तरह परिवहन विभाग जयपुर ? की तर्ज पर नंबरों की सीरीज जारी कर उन्हें बिना पैनल्टी पीयूसी का मौका दिया। उसी तरह उनको भी इसमें छूट मिले। लेकिन अभी तक मुख्यालय की ओर से एेसे कोई आदेश नहीं आए हैं। अब वाहन चालकों को अपनी जेबों पर पडऩे वाले भार की चिंता सताने लगी है।

23 हजार चालकों को भुगतनी पड़ी पैनल्टी


प्रदेशभर के लगभग 23 हजार चालकों को पीयूसी सर्टिफिकेट के लिए भारी भरकम पैनल्टी चुकानी पड़ी है। इन आंकड़ों के मुताबिक जयपुर जिले को छोड़कर अन्य दूसरे जिलों में पैनल्टी का ग्राफ बढ़ा हुआ है।

 

जांच में 24 हजार में से 957 वाहन फेल

जोधपुर जिले में लगभग 6 लाख वाहनों का पंजीयन हो रखा है। इसमें से अभी तक केवल 24 हजार 473 चालकों ने ही अपने वाहन की पीयूसी करवाई है। इसमें 957 वाहन जांच में फेल हुए। इसमें डीजल के 12 हजार 966 में से 30 और पेट्रोल के 11 हजार 507 में से 957 वाहन जांच में फेल हुए।

सीरीज निकालने का इंतजार


परिवहन मुख्यालय ने आयुक्त शैलेश अग्रवाल के आदेश के बाद वाहनों की सीरीज निकाली। इसमें 1 से 2000 तक के सभी श्रेणी के वाहनों के लिए पीयूसी प्रमाण पत्र जारी करने की अंतिम तिथि 15 फरवरी रखी गई। इसके बाद पंजीयन क्रमांक 2001 से 5000 तक के लिए 15 अप्रेल, 5001 से 9999 तक के लिए 15 जून निर्धारित की गई है। इसी तर्ज पर प्रदेशभर के (जयपुर को छोड़कर) वाहन चालकों को सीरीज निकालकर पीयूसी की पैनल्टी में छूट का इंतजार है।

kunal purohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned