स्वर्णिम भारत - कोई भी परीक्षा आखिरी नहीं होती, शांतचित होकर पढि़ए

-राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त शिक्षिका कल्पना दाधिच

jay kumar bhati

Updated: 14 Mar 2020, 06:32 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. परीक्षा एक मापदंड हैं, जिसका का अर्थ हैं अपनी योग्यता और क्षमता को परखना। जिससे की हम अपनी तैयारी को परख सकते हैं, कोई भी परीक्षा आखिरी परीक्षा नहीं होती हैं, इसलिए विद्यार्थी को शांतचित होकर पढऩा चाहिए। जितना कठीन परिश्रम करेंगे, उतनी शानदार सफलता मिलेगी। प्लानिंग और सकारात्मक सोच के साथ कुछ टिप्स को अपना कर बोर्ड की परीक्षाओं में भी अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं।

अक्सर देखा जाता हैं कि परीक्षा के समय विद्यार्थी पास होने के लिए कई तरीके अपनाते रहते हैं। कुछ तो दिन-रात किताबों में ही घुसे रहते हैं। कुछ दोस्तों से पढऩे के लिए सहायता मांगते हैं। कक्षा आठवीं एवं दसवीं के विद्यार्थियों को सबसे ज्यादा डर बोर्ड परीक्षा का लगता है और बोर्ड की परीक्षा का उनका पहला अनुभव होता हैं। एेसे में विद्यार्थी कुछ महत्वपूर्ण टिप्स अपनाकर मनचाही सफलता अर्जित कर सकते हैं।

-परीक्षार्थी को सकारात्मक सोच रखते हुए बेहतर ढंग से बिना टेंशन अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए। इससे काफ ी बेहतर अंक प्राप्त कर सकते हैं।
-शांत मस्तिष्क रखने से अशांत एवं चिंतित मस्तिष्क के मुकाबले कम गलतियां होंगी और हम बहुत ही अच्छे तरह से परीक्षा में उत्तर लिख सकते हैं।

-लिखना भी एक कला है। परीक्षा में केवल ज्यादा पढऩा ही सबकुछ नहीं हैं बल्कि प्रश्नों के उत्तर ठीक ढंग से पेश करने चाहिए। एेसा करना आपका प्लस प्वाइंट साबित होगा।
-परीक्षा को हमेशा अपना मित्र समझें। इससे परीक्षा के दिन भी हमें कोई टेंशन नहीं होगी।

-परीक्षा के दिनों में हमें अपने मन को स्थिर रखना चाहिए, हम थोड़ा सा समय योग के लिए निकालें। एेसा करने से मन में स्थिरता आएगी।
-विद्यार्थी को किसी भी विषय में रटने के बजाय उसे समझने की कोशिश करनी चाहिए। जिससें आप उस विषय से संबंधित हर सवाल का जवाब आसानी से दे सकेंगे।

-सुबह जल्दी उठना हर विद्यार्थी के लिए अच्छा होता हैं। नियमित कार्यों को कर अपनी पढ़ाई शुरू करने से आपका बहुत सा समय बच जाता हैं और दिन में आपकों अधिक समय पढनें के लिए मिल जाता है।
-परीक्षा का नाम सुनते ही भौहें तन जाती हैं और एक बोध सा महसूस होता है। वास्तव में ये असर डर नहीं होता, केवल मानसिक तनाव हैं, जिसका सामना हर इंसान को कभी न कभी करना पड़ता हैं।

-परीक्षा के दिनों में पौष्टिक व संतुलित आहार ले, आलस्य व नींद लाने वाले खाद्यान्न से परहेज रखें।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned