scriptNot only life threatening but 6489 licenses have been suspended | न सिर्फ जान का खतरा बल्कि 6489 लाइसेंस हो चुके हैं निलम्बित | Patrika News

न सिर्फ जान का खतरा बल्कि 6489 लाइसेंस हो चुके हैं निलम्बित

लोगो- मौका-ए-सावधान
- वाहन चलाने के दौरान एमवी एक्ट के नियमों की पालना करें, मोबाइल का उपयोग न करें
- मोबाइल पर बात करते हुए वाहन चलाने पर 2330, तेज रफ्तार के 18032 व शराब पीकर वाहन चलाने के 4 चालान

जोधपुर

Published: December 09, 2021 12:07:40 am

जोधपुर.
वाहन चलाने के दौरान मोबाइल का उपयोग, खतरनाक/तेज रफ्तार और शराब के नशे में वाहन चलाना व गलत तरीके से ओवरटेक करना। अमूमन सड़क हादसों के पीछे यही कारण रहते हैं। इनसे न सिर्फ जान का खतरा होता है, बल्कि चालान होने पर लाइसेंस तक निलम्बित कर दिए जाते हैं। वर्ष 2021 में दस महीने के दौरान पुलिस कमिश्नरेट जोधपुर में 6971 लाइसेंस निलम्बन के लिए परिवहन विभाग को भेजे गए हैं और इनमें से 6489 लाइसेंस निलम्बित भी हो चुके हैं। लाइसेंस के निलम्बन कम से कम तीन माह के लिए किए जा रहे हैं।
एमवी एक्ट के निम्न नियम तोडऩे पर होते हैं लाइसेंस निलम्बित
- क्षमता से अधिक भार परिवहन करना।
- भार वाहनों में यात्रियों को बिठाकर वाहन चलाना।
- नशे में वाहन चलाना।
- तेज गति व खतरनाक तरीके से वाहन चलाना।
- वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात या उपयोग करना।
- ट्रैफिक सिग्नल लाइटों का उल्लंघन करना।
शराब पीकर वाहन चलाने पर दस हजार तक जुर्माना
मोटर व्हीकल एक्ट के नए प्रावधानों के लागू होने के बाद से जुर्माना राशि में कई गुना बढ़ोतरी हो चुकी है। अब यदि कोई वाहन चालक नशे में वाहन चलाते पकड़ा जाता है तो उस पर पांच हजार से दस हजार रुपए तक जुर्माना राशि जमा करानी होगी। वहीं, मोबाइल पर बात करने व खतरनाक या तेज रफ्तार में वाहन चलाने पर एक हजार रुपए जुर्माना लग रहा है।
नशे में वाहन चलाने की कार्रवाई में कमी
कोरोना के बाद से शराब पीकर वाहन चलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई लगभग नगण्य हो गई हैं। संक्रमण से बचने के लिए पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर ब्रीथ एन्हलाइजर से जांच नहीं की जा रही है। यही वजह है कि नशे में वाहन चलाने वालों के खिलाफ वर्ष 2021 में तीस अक्टूबर तक सिर्फ चार चालान बनाए गए हैं।
दुर्घटनाओं से बचने के लिए निम्न सावधानियां बरतें...
सहायक पुलिस आयुक्त (पश्चिम) रविन्द्र बोथरा का कहना है कि एमवी एक्ट के नियमों की पालना से सड़क दुर्घटना से बचा जा सकता है। सड़क हादसों से बचने के लिए मोटे तौर पर निम्नलिखित कारण रहते हैं...
- वाहन चलाने के दौरान मोबाइल का उपयोग न करें। न तो मोबाइल पर बात करें व न ही कोई अन्य उपयोग करें। इससे न सिर्फ दुर्घटना से बचा सकता है, बल्कि यातायात में भी बाधा उत्पन्न नहीं होती है।
- शराब पीकर कभी भी वाहन न चलाएं। ऐसा करते पाए जाने और चालान बनने पर पांच हजार से दस हजार रुपए तक जुर्माना वसूला जाएगा।
- खतरनाक व तेज रफ्तार में वाहन चलाने से बचें। इससे न सिर्फ खुद की जान बल्कि सामने वाले वाहन में सवार की जान को भी खतरा रहता है।
- गलत तरीके और बगैर समुचित आंकलन या हॉर्न बजाकर ओवरटेक न करें। यदि कहीं गोलाई है तो ओवरटेक से बचें।
- पैदल चलने के लिए फुटपाथ का ही उपयोग करें। सड़क पर पैदल न चलें।
- सर्दी का मौसम है। कोहरा व धुंध भी रहने की संभावना है। ऐसे में वाहन चलाते समय सावचेती बरतें। धीमे रफ्तार में चलें।
परिवहन विभाग को भेजे लाइसेंस निलम्बन की कार्रवाई
वर्ष.............िनलम्बन को भेजे........निलम्बित किए...........निलम्बन होना शेष
2019............10765........................10765.......................00
2020............5180..........................5180.........................00
2021............6971..........................6489.........................482
----------------------------------------------------------
प्रमुख चालान के आंकड़ों पर नजर...
शीर्षक.....................वर्ष 2019 में चालान.......वर्ष 2020 में चालान.....वर्ष 2021 में चालान
तेज रफ्तार....................12003.................516.................18032
नशे में वाहन चलाना.............1557..................969................0004
मोबाइल का उपयोग..............4217.................2090................2330
ओवरलोड सवारी.................680..................278.................446
ओवरलोड माल भरना.............665..................214.................446
(नोट : यह आंकड़े जनवरी से 30 अक्टूबर तक की अवधि के तुलनात्मक हैं और यातायात पुलिस से प्राप्त हैं)
न सिर्फ जान का खतरा बल्कि 6489 लाइसेंस हो चुके हैं निलम्बित
न सिर्फ जान का खतरा बल्कि 6489 लाइसेंस हो चुके हैं निलम्बित

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.