पत्थर कटिंग फै क्ट्री मालिकों को अंतिम नोटिस

पत्थर कटिंग फै क्ट्री मालिकों को अंतिम नोटिस

Pawan Kumar Pareek | Updated: 10 Jul 2019, 10:13:25 AM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

बिलाड़ा नगर पालिका प्रशासन ने कृषि भूमि को बिना व्यवसायिक भूमि में रूपांतरित कराए ही पत्थरों की कटिंग का व्यवसाय करने वाले 27 पत्थर कटिंग फै क्ट्री मालिकों को अंतिम नोटिस जारी किया है।

बिलाड़ा (जोधपुर) . नगर पालिका प्रशासन ने कृषि भूमि को बिना व्यवसायिक भूमि में रूपांतरित कराए ही पत्थरों की कटिंग का व्यवसाय करने वाले 27 पत्थर कटिंग फै क्ट्री मालिकों को अंतिम नोटिस जारी किया है।

 

नोटिस में कहा गया है कि उद्योग से निकलने वाले अपशिष्ट पदार्थ का उचित निस्तारण करने के लिए डंपिग स्टेशन चिन्हित कर उन्हें जानकारी दें । साथ ही राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण मंडल का अनापत्ति प्रमाण पत्र पालिका में प्रस्तुत करें अन्यथा नगरपालिका अधिनियम 2009 की धारा 245 के तहत सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

 

गली-गली में चल रहे छात्रावास

नगरपालिका के राजस्व निरीक्षक सुरेन्द्रसिंह भाटी द्वारा कस्बे की गली गली में चल रहे छात्रावास को लेकर भी कई को नोटिस जारी कर कहा है कि छात्रावास भी व्यवसायिक गतिविधि के दायरे में आता है।

 

कस्बे में चल रहे अधिकतर छात्रावास अनियमित तरीके से संचालित किए जा रहे हैं जिसे लेकर कई लोगों ने पालिका में शिकायतें भी दर्ज कराई है। पालिका ने छात्रावासों को जारी किए गए नोटिस में तीन दिनों की अवधि देते हुए सभी छात्रावासों से संबंधित भूमि के दस्तावेज, पट्टा, रजिस्ट्री एवं छात्रावास चलाने के लिए संबधित विभाग की स्वीकृति के दस्तावेज पेश करने को कहा है।

 

 

टेंट वालों को भी नोटिस

 

पालिका प्रशासन ने कस्बे में टेंट का व्यवसाय करने वालों को भी बड़ा व्यवसायी मानते हुए अंतिम नोटिस के जरिए कहा कि नगरपालिका के क्षेत्राधिकार में टेंट हाउस का संचालन किया जा रहा है जो कि बड़े व्यवसाय के स्वरूप में माना जाता है। सभी टेंट व्यवसायियों को भी टेंट हाउस से संबधित भूमि के दस्तावेज पेश करने के लिए अंतिम नोटिस जारी किया गया है।

 

 

इन्होंने कहा

नगरपालिका पर वर्तमान में साढे चार करोड़ की देनदारी चढ़ी हुई है तथा आए दिन ठेकेदार उन्हें उलाहनों के साथ खरी खोटी सुना रहे हैं। राज्य सरकार से 14 वें एवं 5वे वित्त आयोग की राशी जारी करने के लिए कई बार आग्रह किया जा चुका है। राशि नहीं मिलने की स्थिति में पालिका स्वयं अपनी आय बढाने के प्रयास में जुटी है।

हरीशचन्द गहलोत, अधिशासी अधिकारी, नगरपालिका बिलाड़ा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned