एम्स के छात्रावास में नर्सिंग की छात्रा ने फंदा लगाया

एम्स के छात्रावास में नर्सिंग की छात्रा ने फंदा लगाया

Vikas Choudhary | Publish: Sep, 10 2018 12:15:42 AM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

- लव अफेयर की आशंका, युवक के कई दिन से बात न करने से थी परेशान
- दरवाजा न खोलने पर सहेली को आशंका हुई, पुलिस ने गेट तोड़ा तो पंखे पर लटकी मिली
- सहपाठी छात्रा की तबीयत बिगड़ी


जोधपुर.
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की नर्सिंग छात्रा ने रविवार रात चुन्नी से फंदा लगा आत्महत्या कर ली। वह छात्रावास में अपने कमरे में पंखे पर लटकी मिली। कमरे से फिलहाल कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। आत्महत्या के कारण पता नहीं लग पाए हैं, लेकिन करीब सहेलियों से बातचीत के बाद पुलिस को अंदेशा है कि लव अफेयर के चलते उसने खुद की जान दी है। मोबाइल जब्त किया गया है।
शास्त्रीनगर थानाधिकारी रमेश शर्मा ने बताया कि पंजाब में चण्डीगढ़ निवासी रजनी (२२) पुत्री रोहिताश धनवाल ने एम्स के छात्रावास के कमरे में आत्महत्या की है। वह एम्स के नर्सिंग कॉलेज वर्ष २०१६ बैच यानि तृतीय वर्ष के चतुर्थ सैमेस्टर की छात्रा थी। कमरे से फिलहाल कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। एफएसएल ने मौके से साक्ष्य जुटाए हैं।
अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त सरिता सिंह व अन्य अधिकारियों ने मौका मुआयना किया। वीडियो व फोटो करवाने के बाद देर रात शव को मोर्चरी में रखवाया गया। परिजन को सूचित किया गया है। जिनके जोधपुर पहुंचने पर पोस्टमार्टम होगा। रजनी के आत्महत्या करने का पता लगते ही एक सहेली की तबीयत बिगड़ गई और वो बेहोश हो गई। जिसका वहां उपचार किया गया। कई अन्य छात्राएं शव देखकर रोने लगी।
पलंग पर टेबल रख पंखे पर लटकी, गेट तोड़ा
खाना खाने के लिए रात को रजनी कमरे से बाहर नहीं आई। सहेली ने कमरे का दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। उसे आशंका होने लगी। छात्रावास प्रबंधन ने भी प्रयास किए, लेकिन असफल रहे। बाद में पुलिस मौके पर पहुंची और दरवाजा तोडक़र अंदर दाखिल हुए। तब रजनी पंखे पर चुन्नी के फंदे से लटक रही थी। पलंग पर टेबल रख वह उस पर चढ़ी और फिर उसने फंदा लगाया।
युवक के कई दिनों से बात करने पर थी परेशान
पुलिस ने छात्रावास में मृतका की सहेलियों व सहपाठियों से बातचीत की। तब सामने आया कि मृतका का किसी युवक से अफेयर चल रहा था। युवक के कई दिनों से उससे बातचीत न करने को लेकर वह परेशान थी। आशंका है कि इसी के चलते उसने सुसाइड किया होगा। पुलिस को कमरे से मृतका का मोबाइल भी मिला है। जो लॉक है। कॉल डिटेल व लॉक खोलने के बाद मोबाइल की जांच में कोई कारण मिल सकते हैं।
डेढ़ माह में दूसरी घटना, पहले की जांच भी अधूरी
गत २६ जुलाई को अलवर में मुंडावर तहसील में सिंहाली खुर्द निवासी एमबीबीएस की छात्रा रश्मि यादव ने छात्रावास के कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। उसने चार दिन पूर्व ही एम्स में प्रवेश लिया था। सुसाइड नोट में एक शिक्षक की डांट से परेशान होकर आत्महत्या करने का उल्लेख था। उसके पिता रामनिवास यादव ने अज्ञात शिक्षक पर शास्त्रीनगर थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया था। डेढ़ महीने बाद भी पुलिस अभी तक यह पता नहीं कर पाई है कि उसने किसकी डांट से परेशान होकर आत्महत्या की थी। पुलिस का कहना है कि जांच चल रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned