धनतेरस की रौनक इंटरनेट पर भी, 20 से 50 फीसदी तक मिल रहा डिस्काउंट, आप भी लें फायदा

इलेक्ट्रोनिक्स, टेक्सटाइल और होमवेयर आइटम 20 फीसदी तक सस्ते, ई-कॉमर्स के व्यवसाय में बूम, सरकार के राजस्व को नुकसान

दिवाली की रौनक इंटरनेट के तारों के जरिए ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल पर भी रोशन हुई। ऑनलाइन शॉपिंग के बाजार में बूम आने से पोर्टल के साथ ग्राहकों को भी काफी फायदा हुआ है। शहर के लोगों ने मोबाइल, टीवी, फ्रिज सहित अन्य इलेक्ट्रोनिक्स आइटम और ब्राण्डेड कपड़ों की खरीद ऑनलाइन कर रहे हैं, जिससे औसतन उनको 10 से लेकर 20 फीसदी का फायदा हो रहा है। दूसरा फायदा लोगों को उत्पाद की विभिन्न किस्मों को लेकर हुआ, जिससे दिवाली पर चार चांद लग गए हैं। धरतेरस के मौके पर ई रिटेलर्स की ओर से कई सारे ऑफर और डिस्काउंट दिए जाने से इस दिन ऑनलाइन शॉपिंग भी अधिक होने की उम्मीद है।

READ MORE: धन तेरस को एेसे करें लक्ष्मी कुबेर पूजन, घर में आएगी सुख-शांति व समृद्धि

बीते साल भर से देश में ऑनलाइन शॉपिंग का क्रेज अधिक बढ़ा है। अमेजन, स्नैपडील, फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, जबॅन्ग, येप मी जैसे ऑनलाइन रिटेलरों के आने से लोगों को घर बैठे मनपंसद आइटम मिल रहे हैं। इस बार दिवाली की काफी शॉपिंग ई पोर्टल से हो रही है। ई-रिटेलर्स भी अधिक से अधिक विज्ञापन और डिस्काउंट देकर ग्राहकों को आकर्षित कर रहे हैं।


धनतेरस के मौके पर कई उत्पादों पर 50 फीसदी तक छूट दी है। कइयों ने फ्री शिपिंग, एक के साथ एक फ्री, बम्बर गिफ्ट, एकमुश्त खरीद पर छूट सहित ऑफर्स ने ऑफलाइन रिटेल आउटलेट्स को काफी नुकसान पहुंचाया। ग्राहकों को मोटे तौर पर खरीदे गए उत्पादों पर 800 से 2000 रुपए (एवरेज बास्केटसाइज) तक का लाभ हो रहा है।

READ MORE: धन तेरस आज: ये मुहूर्त हैं खरीदारी के लिए श्रेयस्कर, खरीदी हुए सामान से हमेशा रहेगी बरकत

फ्रिज-टीवी देखा दुकान पर, खरीद दिल्ली-मुंबई से

दिवाली के मौके पर इलेक्ट्रोनिक्स आइटम्स की काफी बिक्री हो रही है। ऑनलाइन खरीदारी करने वाले लोगों ने शहर के रिटेल आउटलेट्स पर जाकर अपने मनपसंद फ्रिज, टीवी, एसी, माइक्रोवेव, एलईडी, म्यूजिक सिस्टम, मोबाइल, वॉशिंग मशीन, ग्राइंडर इत्यादि को भौतिक रूप से जाकर पसंद किया। उनके रंग, स्टाइल और फीचर देखे और उसके बाद घर आकर ऑनलाइन पोर्टल पर ऑर्डर दिया। अधिकतर ऑनलाइन कम्पनियों के स्टोर बेंगलूरू में है। ग्राहकों की इस समझदारी से कई रिटेल आउटलेट को प्रत्यक्ष रूप से नुकसान हुआ।

READ MORE: जोधपुर के इस मंदिर में कल्पतरू पर विराजित है 'लक्ष्मी वाहक उल्लू का जोड़ा', दर्शन कर आप भी मांगें समृद्धि

कैसे मिलते हैंऑनलाइन सस्ते उत्पाद

- ऑनलाइन ई-रिटेल स्टोर उत्पाद की सीधी खरीद कम्पनी से करते हैं और उन्हें केवल उसी शहर में सरकार को केवल एक बार बिक्री कर (मूल्य संवद्र्धित कर यानी वैट) देना होता है।

- ई-रिटेलर्स और ग्राहक के बीच मीडलमैन गायब हो गया। इन मीडलमैनों को अपनी खरीदारी करते समय अपने हिस्से का टैक्स व मार्जिन बचाकर उत्पाद आगे बेचना पड़ता है। साथ ही रिटेल आउटलेट लगाने का खर्चा, उसके संचालन व कर्मचारियों को रखने का खर्चा भी बच गया जिससे उत्पाद सस्ता पड़ता है। 

Show More
Nidhi Mishra Nidhi Mishra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned