नीमच से मिल रहे निर्देश पर सप्लाई कर रहे थे अफीम का दूध

- पर्यटक मिनी बस में अफीम का 12.3 किलो दूध व 19.60 लाख रुपए जब्त करने का मामला
- बस चालक व खलासी रिमाण्ड पर, सप्लाई ले चुका स्थानीय तस्कर भूमिगत

By: Vikas Choudhary

Published: 14 Oct 2021, 02:21 AM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर.
कुड़ी भगतासनी थानान्तर्गत पाली रोड पर भाखरासनी गांव के पास पर्यटक बस में अफीम के 12.390 किलो दूध व 19.60 लाख रुपए के साथ गिरफ्तार होने वाले चालक व खलासी को व्हॉट्सऐप कॉल पर मध्यप्रदेश के नीमच से निर्देश मिल रहे थे। उन्हीं के आधार पर दोनों ने कांकाणी के पास एक ऑफिस में अफीम का 12 से 15 किलो दूध सप्लाई किया था। बदले में 15 लाख रुपए मिले थे। इतना ही नहीं, कुछ आगे पहुंचने पर बिना नम्बर की बोलेरो पिकअप में आए तस्करों को अफीम का 5 किलो दूध बेचकर 4.60 लाख रुपए लिए थे। इसके दो किमी बाद ही दोनों पुलिस के हत्थे चढ़ गए थे।
सहायक पुलिस आयुक्त (बोरानाडा) मांगीलाल के अनुसार प्रकरण में गिरफ्तार मध्यप्रदेश में नीमच जिले के इन्द्रा नगर निवासी बस चालक राहुल पुत्र कमला शंकर व नीमच में मालखेड़ा निवासी राहुल पुत्र मदनलाल मारू को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 18 अक्टूबर तक रिमाण्ड पर भेजने के आदेश दिए गए। बोरानाडा थाना प्रभारी किशनलाल जांच कर रहे हैं। आरोपियों को नीमच में धर्मेन्द्र धनगर ने अफीम के दूध की सप्लाई दी गई थी। उसकी तलाश में पुलिस नीमच भेजी जा रही है।

पुलिस की दबिशें, आरोपी भूमिगत
चालक राहुल व खलासी को नीमच में अफीम के दूध से भरे तीन कट्टे सौंपे गए थे। जो बस की डिक्की व डैशबोर्ड में बनाए गोपनीय स्थान में छुपाए गए थे। नीमच निवासी धर्मेन्द्र दोनों को व्हॉट्सऐप कॉल पर गाइड कर रहा था। उसी के निर्देश पर दोनों आरोपी बस लेकर पाली होते हुए कांकाणी पहुंचे थे, जहां एक ऑफिस व मकान में दिनेश को अफीम का 12 से 15 किलो दूध सौंपा था। बदले में 15 लाख रुपए दिए गए थे। इसके कुछ आगे बिना नम्बर की बोलेरो पिकअप में आए तस्कर को अफीम का 5 किलो दूध सप्लाई किया गया था। जिसे चालक जानता नहीं है। पुलिस ने कांकाणी में ऑफिस में दबिश दी, लेकिन दिनेश फरार हो गया। शेष अफीम का दूध किसे सप्लाई करना था इस बारे में जांच की जा रही है।

बस मालिक संदेह के दायरे में
पुलिस का कहना है कि पर्यटक बस में मादक पदार्थ पकड़े जाने का यह संभवत: पहला मामला है। बस मालिक ने चालक व खलासी को नीमच से जोधपुर के लिए भेजा था। बस में तीन कट्टे रखने के दौरान चालक ने मालिक को अवगत कराया था। साथ ही बिना यात्री बस जोधपुर ले जाने पर भी सवाल खड़े किए थे, लेकिन बस चालक ने बीस रुपए प्रति किमी की दर से किराया मिलने का बताकर चालक को संतुष्ट किया था। बस पर जयपुर के नम्बर हैं। बस मालिक भी संदेह के दायरे में है।

चालक एक बार पहले भी सप्लाई दे चुका है
पुलिस का कहना है कि बस चालक राहुल एक बार पहले भी मादक पदार्थ तस्करी की खेप लेकर जोधपुर आ चुका है। वह दूसरी बार अफीम सप्लाई करने आया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned