ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर मनमानी फीस वसूलने का अभिभावकों ने किया विरोध

सरदार दून स्कूल का मामला

By: Jay Kumar

Published: 04 Jul 2020, 07:18 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. ‘आप बार-बार मेरे मोबाइल पर फीस जमा कराने के मैसेज कर रहे है और ऑनलाइन पढ़ाई स्टार्ट करने की बात कर रहे है। आप जवाब दें कि अभिभावक किस बात की फीस दें? जब बच्चा स्कूल ही नहीं आ रहा है।’ कुछ ऐसी उलाहनाओं को लेकर शनिवार को सरदार दून स्कूल के खिलाफ विद्यार्थियों के माता-पिता ने प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन कर रहे अभिभावकों ने कहा कि ऑनलाइन पढ़ाई स्कूल ने उनकी अनुमति से शुरू नहीं करवाई और ना हीं उन्होंने इस संबंध में कुछ कहा। कई पैरेंट्स ने कहा कि उनके पास मोबाइल व लैपटॉप भी अतिरिक्त नहीं है। पूर्व में बच्चों के पास मोबाइल होने पर उनसे जब्त कर लिए जाते। साथ ही मोबाइल से होने वाले नुकसान की सलाहें दी जाती थी। जबकि अभिभावकों के खुद के काम-धंधे बंद पड़े हैं। ऊपर से बच्चों के नाम काटने की धमकियां दी जा रही हैं। एक मत में अभिभावकों ने कहा कि जब तक स्कूल बंद रहेंगे, तब तक फीस नहीं दे सकते। बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई के चक्कर में मोबाइल पर गेम खेल रहे और फालतू के वीडियो सोशल साइट्स पर देख रहे हैं। उनके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है।

सरकार आदेश दे तो फीस माफ कर देंगे
मैं तो बाहर हूं, मुझे तो पता ही नहीं है। ये जब स्कूल आए तो कोई नहीं था। आज अवकाश था। पैरेंट्स ने आने की कोई सूचना नहीं दी। पैरेंट्स हल्ला हो करके चल दिए। पहले आए तो मैंने बोला था कि सरकार फीस माफी का आदेश कर दे या फिर कोर्ट चले जाए। फीस माफ होगी तो सरदार दून स्कूल सबसे पहले आगे आएगा। कुछ लोग न्यूसेंस पैदा कर रहे है। कुछ को हमारा एंटी गु्रप समर्थन दे रहा है।
- प्रकाश लूणिया, सचिव, सरदार दून स्कूल प्रबंधन कमेटी

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned