scriptPerformed thoracobifemoral graft surgery in elderly with heart disease | ह्रदय नलिकाओं के रोग से ग्रस्त वृद्धा की थोरैकोबिफेमोरल ग्राफ्ट सर्जरी की | Patrika News

ह्रदय नलिकाओं के रोग से ग्रस्त वृद्धा की थोरैकोबिफेमोरल ग्राफ्ट सर्जरी की


एमडीएम सीटीवीएस विभाग का दावा, पश्चिमी राजस्थान में पहली बार ऐसा ऑपरेशन

जोधपुर

Published: July 21, 2022 10:29:13 pm

जोधपुर.मथुरादास माथुर अस्पताल में एक वृद्धा (67 ) का ह्रदय में खून प्रवाह करने वाली ह्रदयनलिकाओं के रोग से परेशान थी। जिसको एमडीएम के सीटीवीएस विभाग ने थोरैकोबिफेमोरल ग्राफ्ट सर्जरी कर निजात दिलाई। वृद्धा को 6 माह से पैरों में सूनापन, दर्द तथा उंगलियां काली पड़ने की शिकायत थी। वह चलने-फिरने में असमर्थ हो गई थी। इस समस्या को लेकर मरीज मथुरादास माथुर अस्पताल के कार्डियोथोरेसिक विभाग में भर्ती हुई थी। एमडीएम सीटीवीएस विभाग का दावा है कि पश्चिमी राजस्थान में पहली बार ऐसा ऑपरेशन हुआ है।
ह्रदय नलिकाओं के रोग से ग्रस्त वृद्धा की थोरैकोबिफेमोरल ग्राफ्ट सर्जरी की
ह्रदय नलिकाओं के रोग से ग्रस्त वृद्धा की थोरैकोबिफेमोरल ग्राफ्ट सर्जरी की
सीटीवीएस विभाग के सहायक आचार्य डॉ अभिनव सिंह ने बताया कि इस ऑपरेशन में पेट की महाधमनी के डिजीज हिस्से को आर्टिफिशियल ग्राफ्ट के माध्यम से बायपास किया जाता है। इस ऑपरेशन में ग्राफ्ट का ऊपरी हिस्सा थोरेसिक एरोटा तथा निचला हिस्सा छाती व पेट के रास्ते होते हुए जांघों की मुख्य धमनियों में लगाया जाता है। ऑपरेशन में सीटीवीएस विभाग के डॉ सुभाष बलारा, एनेस्थेसिया के डॉ राकेश करनावत,डॉ वंदना शर्मा , परफ्यूशनिस्ट माधव सिंह, ओटी स्टाफ लीला, आसिफ और हरीश शामिल थे। ऑपरेशन 3 घंटे चला, ऑपरेशन के पश्चात मरीज का इलाज सीटीआईसीयू में हुआ। जहां डॉ अभिषेक ,डॉ अंशुमन,डॉ हेमाराम, स्टाफ मनीष, नरेश, हरि सिंह का सहयोग रहा।
ये रहता हैं बीमारी का मुख्य कारण

महाधमनी रोग का मुख्य कारण डायबिटीज, हाइपरटेंशन ,हाइपरलिपिडेमिया धूम्रपान, फैमिली हिस्ट्री है। यह बीमारी पुरुषों में ज्यादा पाई जाती है। इस बीमारी में खून की महाधमनी में कैलशिफिकेशन तथा एथेरोमा जमने लगता है। जिसके कारण ज्यादातर महाधमनी में रुकावट शुरू हो जाती है, जो पैरों की मुख्य धमनी तक पहुंचती है। सही समय पर इलाज होना आवश्यक है अन्यथा पैरों को काटने तक की नौबत आ जाती है। इस बीमारी को क्लीनिकल सिम्टम्स तथा सीटी एंजियोग्राफी से डायग्नोस किया जाता है। इसका इलाज बाईपास ग्राफ्टिंग है, ऑपरेशन के दौरान तथा पश्चात मरीज को खून पतला होने की दवाइयां दी जाती हैं। ऑपरेशन मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत नि:शुल्क किया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar News: तेज प्रताप भी बन सकते हैं मंत्री, बिहार में 16 अगस्त को मंत्रिमंडल विस्तारBilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, राज्य सरकार की माफी योजना के तहत जेल से आए बाहरIndependence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागूसिंगर राहुल जैन पर कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के साथ रेप का आरोप, मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआरशख्स के मोबाइल पर गर्लफ्रेंड ने भेजा संदिग्ध मैसेज, 6 घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट, जाने क्या है पूरा मामलासिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.