निखरा फलोदी किला, कबाड़ भी हटने लगा

निखरा फलोदी किला, कबाड़ भी हटने लगा

pawan pareek | Publish: Apr, 18 2018 12:26:59 AM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

बेजोड़ स्थापत्थ कला से पर्यटन क्षेत्र में अपनी खास पहचान रखने वाले फलोदी के ऐतिहासिक किले से जुड़ी दो दो सुखद खबरें हैं।

फलोदी (जोधपुर). बेजोड़ स्थापत्थ कला से पर्यटन क्षेत्र में अपनी खास पहचान रखने वाले फलोदी के ऐतिहासिक किले से जुड़ी दो दो सुखद खबरें हैं।


पहली यह है कि कुछ दिन पूर्व किले में हुए धार्मिक आयोजन को लेकर जागरूक लोगों ने किले की सफाई करवाई, अब २६ अप्रेल को होने वाले आयोजन को लेकर फिर से किले की सफाई करवाई जा रही है। इससे किले का सौन्दर्य निखर उठा है। दूसरी खबर यह कि पिछले कई सालों से किले में पड़े नगरपालिका के अनुपयोगी सामान को हटाने कार्रवाई शुरू कर दी गई है। कह सकते हैं, शहर के गौरवमयी इतिहास को संजोए ऐतिहासिक व प्राचीन किले से उपेक्षा के बादल हटने लगे हैं।

 

सफाई से निखर उठा किले का सौन्दर्य
इन दिनों किले में २६ अप्रेल को आयोजित होने वाले कार्यक्रम को लेकर युद्धस्तर पर सफाई कार्य चल रहा है। जहां किले में उगी झाडिय़ों की सफाई करवाई जा रही है वहीं किले की उत्तरी दीवार के पास वाले क्षेत्र की जमीन को समतल किया गया है। इससे पूर्व गत माह हिन्दू नववर्ष व रामनवमी महोत्सव समिति द्वारा कार्यक्रम के आयोजन को लेकर सफाई अभियान चलाया गया था। दोनों बार हुई सफाई के बाद अब किला अपनी खूबसूरत छटा पेश करने लगा है।

जागा नगरपालिका प्रशासन
इस ऐतिहासिक किले में पिछले कई सालों से नगरपालिका का कबाड़ रखा हुआ था, जिससे किले के सौन्दर्य पर दाग लगा रहा था। अब नगरपालिका प्रशासन ने भी किले में रखे कबाड़ को हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी है। नगरपालिका के जयप्रकाश रंगा व कैलाश गज्जा की देखरेख में मंगलवार को यहां भारी मात्रा में रखे कबाड़ को हटाने का काम शुरू किया गया।

किले में बने राष्ट्रीय शौर्य संग्रहालय
सामाजिक कार्यकर्ता हेमंत थानवी ने प्रधानमंत्री व रक्षा मंत्री को ज्ञापन भेजकर फलोदी के ऐतिहासिक किले में राष्ट्रीय शौर्य संग्रहालय स्थापित करने, संग्रहालय का नाम मेजर शैतानङ्क्षसह के नाम पर रखने तथा उनके अदम्य साहस, शौर्य व बलिदान से जुड़ी स्मृतियां इसमें रखने का आग्रह किया है।

पत्रिका की मुहिम का असर
प्राचीन किले के संरक्षण को लेकर राजस्थान पत्रिका में जून, 2016 से लगातार समाचार प्रकाशित किए गए, जिसमें किले में रखे नगरपालिका के कबाड़ को हटाने, संरक्षण व सफाई के मुद्दे शामिल रहे। इससे प्राचीन धरोहर के संरक्षण के लिए लोगों में काफी जागरूकता आई और प्रशासन भी गंभीर हुआ।

2-3 दिन में हट जाएगा कबाड़

प्राचीन किले के संरक्षण को लेकर नगरपालिका प्रशासन गंभीर है। पहले कबाड़ रखने के लिए जगह नहीं थी, अब स्थान मिल गया है तथा मंगलवार से ही कबाड़ हटाने का काम शुरू कर दिया गया है। 2-3 दिन में ही पूरा कबाड़ हटा दिया जाएगा।
अविनाश शर्मा, अधिशासी अधिकारी, नगरपालिका, फलोदी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned