महिला को छुड़ाने ससुराल पहुंची पुलिस पर हमला, एएसआइ व कांस्टेबल घायल

- महिला के पीहर पक्ष की कार में तोड़-फोड़, जानलेवा हमला, डकैती व कांस्टेबल को बंधक बनाने का मामला दर्ज
- महिला की तरफ से भी एफआइआर दर्ज, एक गिरफ्तार, शेष घरवाले गांव छोड़कर भागे

By: Vikas Choudhary

Published: 23 Aug 2020, 06:15 AM IST

जोधपुर.
जिले के चाखू थानान्तर्गत बुगड़ी गांव में महिला को ससुराल वालों से छुड़ाने के लिए पहुंचे एएसआइ व कांस्टेबल पर घरवालों ने जानलेवा हमला कर दिया। कांस्टेबल को दो घंटे तक बंधक बना लिया। चाखू थाने में जानलेवा हमला, डकैती व कांस्टेबल को बंधक बनाने और महिला की तरफ से प्रताडऩा व बंधक बनाने का मामला दर्ज कर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया।
वृत्ताधिकारी (फलोदी) पारस सोनी के अनुसार बीकानेर में कोलायत थानान्तर्गत झंझु निवासी मेघाराम नायक की पुत्री रतना की शादी बुगड़ी गांव में दो माह पहले हीराराम भील से हुई थी। मेघाराम ने पुत्री को ससुराल में बंधक बना मारपीट करने का परिवाद पेश किया था। उसे छुड़ाने के लिए एएसआइ भंवरलाल व दो सिपाही सरकारी जीप में शुक्रवार रात बुगड़ी पहुंचे। दो कार में रतना के पीहर पक्ष के लोग भी साथ थे। पुलिस व पीहर पक्ष को देख रतना ससुराल से भागकर बाहर आ गई और पीहर वालों के साथ कार में बैठ गई। ससुराल वालों ने उस कार पर हमला कर तोड़-फोड़ कर दी। इसके बावजूद वो रतना को लेकर मौके से निकल गए।
उधर, पुलिस ने हमले का विरोध किया तो महिला के घरवाले आवेश में आ गए। वे पुलिस पर टूट पड़े। एएसआइ के सिर पर धारदार हथियारों से वार कर दिए। सिर फट गया। बीच-बचाव में आए कांस्टेबल परसाराम से मारपीट की गई और उसे जबरन कमरे में ले जाकर बंधक बना लिया। एएसआइ की जेब से मोबाइल व चार हजार रुपए भी लूट लिए गए।
चालक ने ग्रामीणों की मदद से छुड़वाया
एएसआइ के घायल व कांस्टेबल को बंधक बनाने पर पुलिस जीप चालक ने अधिकारियों को सूचना दी। साथ ही गांव में जाकर ग्रामीणों को बुलाकर दो घंटे बाद कांस्टेबल को कमरे से छुड़ाया। बाद में अतिरिक्त पुलिस मौके पर पहुंची और लहुलूहान एएसआइ व कांस्टेबल को अस्पताल पहुंचाया।
गांव में पुलिस का डेरा, आरोपी भूमिगत
एएसआइ की तरफ से हीराराम, उसके पिता पदमाराम, गणपतराम, बलवीर, गोकुलराम, शिवराम, नेमाराम, खेराजराम, सोनाराम, मेघराम, टिकूराम, भूराराम, जीवणराम, रूपाराम, हड़मानराम, किशना, शारदा, समुदेवी, कमला, सारू, सुमन, लाली, समु व १५-२० अन्य के खिलाफ तलवार, लाठी व अन्य धारदार हथियार से पुलिस पर जानलेवा हमला, डकैती व कांस्टेबल को बंधक बनाकर राजकार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज किया गया। वहीं, रतना ने भी पति व ससुराल वालों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। पुलिस के पहुंचने पर अन्य आरोपी मौके से भाग निकले। वृत्ताधिकारी पारस सोनी के नेतृत्व में पुलिस ने गांव में कैम्प कर रखा है। आरोपियों की तलाश की जा रही है।
वीडियो बनाकर पुलिस पर लगाए आरोप
घरवालों ने कांस्टेबल परसाराम को बंधक बनाकर एक वीडियो बनाकर वायरल किया। जिसमें पुलिस पर घर में घुसकर महिला को जबरन ले जाने का आरोप लगाया गया। वृत्ताधिकारी पारस सोनी का कहना है कि रतना के पीहर से आठ लोग पुलिस के साथ थे। रतना पीहर वालों के साथ गई है। घरवालों के आरोप गलत हैं।

Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned