नकल गैंग पर पुलिस की नजर, व्हॉट्सऐप कॉलिंग से पकड़ने में परेशानी

- प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल कराने वाली गैंग सामान्य कॉलिंग की बजाय व्हॉट्सऐप कॉलिंग से कर रही सम्पर्क
- रीट परीक्षा में अच्छे नम्बर दिलाने का सौदा करने वाला कथित पत्रकार रिमाण्ड पर

By: Vikas Choudhary

Updated: 24 Sep 2021, 07:57 AM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. रीट परीक्षा में 26 लाख से अधिक अभ्यर्थियों के शामिल होने की संभावना है। अभ्यर्थियों को नकल कराने की अनेक गैंग के सक्रिय होने की आशंका है। इसी के चलते पुलिस, एसओजी व खुफिया एजेंसियां भी संदिग्धों पर नजर रखे हुए हैं। पुलिस से बचने के लिए नकल गिरोह भी सामान्य कॉल की बजाय व्हॉट्सऐप कॉलिंग से ही सम्पर्क कर रही है। ऐसे में गिरोह को पकडऩा मुश्किल भरा होता जा रहा है। रीट परीक्षा में अच्छे नम्बर दिलाने के लिए एक लाख रुपए में सौदा कर 50 हजार के चिल्ड्रन नोट लेते एसओजी की पकड़ में आने वाला पत्रकार भी व्हॉट्सऐप कॉलिंग से ही अभ्यर्थी से सम्पर्क में था।

स्पीकर ऑन कर कॉल रिकॉर्ड की
एसओजी ने रीट में अच्छे नम्बर दिलाने की एवज में 50 हजार के चिल्ड्रन नोट लेते मूलत: बिलाड़ा हाल खोखरिया में त्रिवेणी नगर निवासी पत्रकार मनोहरसिंह को बुधवार को मेडिकल कॉलेज के पास चाय के ढाबे से पकड़ा था। अभ्यर्थी से रुपए वसूलने के लिए मनोहरसिंह व्हॉट्सऐप कॉल से ही सम्पर्क में था। व्हॉट्सऐप कॉलिंग पर भी वह कोड वर्ड में बात कर रहा था। उसके खिलाफ साक्ष्य एकत्रित करने के लिए एसओजी ने व्हॉट्सऐप कॉल का स्पीकर ऑन कर दूसरे मोबाइल में बातचीत रिकॉर्ड की थी। वहीं, गुप्त कैमरे से चिल्ड्रन नोट लेने की पूरी वारदात रिकॉर्ड की थी।

दो दिन के रिमाण्ड पर आरोपी पत्रकार
शास्त्रीनगर थानाधिकारी पंकजराज माथुर ने बताया कि प्रकरण में गिरफ्तार मनोहरसिंह को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे दो दिन के रिमाण्ड पर भेजने के आदेश दिए गए। जांच कर रहे उप निरीक्षक नारायणसिंह उससे पूछताछ कर रहे हैं। उससे कई अन्य जांच एजेंसियों के अधिकारियों ने भी पूछताछ की। फिलहाल आरोपी नकल कराने में अन्य किसी के शामिल होने के बारे में चुप्पी साधे हुए है। उसने किसी अन्य से भी रुपए वसूले हैं या नहीं, इस बारे में पूछताछ की जा रही है।

दो मोबाइल जब्त, एफएसएल से होगी जांच
पुलिस ने आरोपी मनोहरसिंह से दो मोबाइल भी जब्त किए हैं। इनमें एक मोबाइल से उसने अभ्यर्थी से व्हॉट्सऐप कॉल की थी। दोनों मोबाइल पासवर्ड लॉक हैं। अब पुलिस इन दोनों मोबाइल को जांच के लिए एफएसएल भेजेगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned