'राजनीति ने चुनाव को बनाया बाजार, मतदाता ग्राहक'

Yamuna Shankar Soni

Publish: Mar, 10 2019 10:38:00 PM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

 

जोधपुर. 'चुनाव भी अब बाजार हो गया है। राजनीतिक दल मतदाताओं को ग्राहकों की तरह लुभाने की कोशिश कर रही है। मतदाता उसी पार्टी की सरकार चाहता है जो ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं दे।'

डीसीआरसी निदेशक और दिल्ली विश्व विद्यालय में प्रोफेसर सुनीलकुमार चौधरी ने यह बात रविवार को यहां 'भारत में राज्यों की निर्वाचकीय राजनीति की गत्यात्मकता : राजस्थान विधानसभा निर्वाचन 2018 के निहितार्थ' विषयक राष्ट्रीय संगोष्ठी में कही।

जेएनवीयू के राजनीति विज्ञान विभाग और यूजीसी की ओर से एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज के सभागार में आयोजित दो दिवसीय संगोष्ठी के समापन समारोह में मुख्य वक्ता प्रो. चौधरी ने कहा कि बाजार व्यवस्था केवल अर्थव्यवस्था में ही नहीं है, यह राजनीतिक, सामाजिक और सांस्कृतिक परम्पराओं में भी है।

पहला आम चुनाव हुआ तब राष्ट्रीय, राज्य व पंजीकृत दलों की संख्या 93 थी, अब भारत में इतने दल हो गए हैं कि सब दलदल हो गया। अब पार्टियां लोकलुभावनवाद पर जोर देने लगी हैं।

 

हकीकत बताने से डर रहे बुद्धिजीवी

विशिष्ठ अतिथि उदयपुर की सुखाडिय़ा विवि के प्रोफेसर सीआर सुथार ने कहा कि बुद्धिजीवियों का दायित्व है कि वे राजनीतिक दलों की हकीकत सामने लाएं, लेकिन वे डर रहे हैं। विधानसभा चुनावों से पूर्व सभी कह रहे थे कि तीन हिंदीभाषी राज्यों के चुनावी नतीजे राष्ट्रीय राजनीति को प्रभावित करेंगे, लेकिन अब इस पर कोई चर्चा नहीं कर रहा।

डॉ. जेआर नागौरा ने कहा कि देश व सिस्टम में क्या परिवर्तन होना चाहिए, यह नहीं सुना जा रहा है। अब व्यवस्था सुविधाभोगी हो गई है और जब कोई व्यवस्था सुविधाभोगी हो जाती है तो अराजकता फैल जाती है। यह कोई नहीं सोचता कि इन सुविधाओं से देश को कोई नुकसान तो नहीं हो रहा।

एनएलयू के पूर्व कुलपति एनएन माथुर ने कहा कि यूपीए हो या एनडीए दोनों ही सरकारें आज एक ही विचारधारा पर चल रही है।

युवा मतदाता निभाएंगे अहम भूमिका

डॉ. बीएल सैनी ने कहा कि चुनाव में लीडरशीप की अहम भूमिका होती है। आने वाले चुनावों में युवा मतदाता सरकार बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाएगा।

अध्यक्षता कर रहे प्रो. प्रतापसिंह भाटी ने कहा कि आज राजनीतिक दलों में विचारधाराओं का अभाव है। प्रारंभ में डॉ. दिनेश गहलोत ने अतिथियों का स्वागत किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned