scriptpolitics on water, cm ashok gehlot and gajendra singh shekhwat tweet | politics : पूर्वी केनाल को लेकर सियासत, इस्तीफा देने के हो गए दावे, यह है पूरा मामला | Patrika News

politics : पूर्वी केनाल को लेकर सियासत, इस्तीफा देने के हो गए दावे, यह है पूरा मामला

दो मंत्रियों ने की पद छोड़ने की पेशकश, यह है पूर्वी केनाल का पूरा मामला

 

जोधपुर

Updated: April 09, 2022 01:00:12 pm

politics : पानी पर सियासत तेज हो गई है। प्रदेश के Cm Ashok Gehlot और जलदाय मंत्री Mahesh Joshi ने केन्द्र सरकार पर हमला बोला तो केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री Gajendra Singh Shekhawat भी आक्रामक हो गए हैं।
politics : पूर्वी केनाल को लेकर सियासत, इस्तीफा देने के हो गए दावे, यह है पूरा मामलाcm gehl
politics : पूर्वी केनाल को लेकर सियासत, इस्तीफा देने के हो गए दावे, यह है पूरा मामलाcm gehl
ईस्टर्न राजस्थान केनाल प्रोजेक्ट को लेकर केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर पलटवार करते हुए कहा कि अपनी विफलता को छुपाने के लिए हर योजना पर राजनीति करने की आदत कांग्रेस को छोड़नी पड़ेगी, नहीं तो राजनीति उन्हें छोड़ देगी। शेखावत ने कहा कि आमजन की भावनाओं का इस्तेमाल कर, सिर्फ राजनीतिक फायदों के लिए मांग उठाने वाले ये याद रखें कि ये मोदी सरकार है। हम जो कहते हैं, वो करते हैं। पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना पर काम होगा और केंद्र सरकार उसे पूरा करने के लिए कटिबद्ध है, लेकिन राजस्थान की गहलोत सरकार को अपनी भूमिका निभानी पड़ेगी।

पहले मुख्यमंत्री गहलोत ने सिललिसेवार टवीट किए और इसके बाद सीएम गहलोत के ट्वीट्स को टैग करते हुए केंद्रीय मंत्री शेखावत ने सिलसिलेवार ट्वीट किए। उन्होंने कहा कि पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना पर राजनीति करने के लक्ष्य से गहलोत सरकार के मंत्री और स्वयं मुख्यमंत्री जी का जो व्यवहार है, उसे किसी भी सूरत में सामान्य नहीं कहा जा सकता। शेखावत ने कहा कि जयपुर में आयोजित जल जीवन मिशन की क्षेत्रीय कार्यशाला के साथ मैंने ईआरसीपी, जवाई पुनर्भरण, यमुना जल और राजस्थान के अन्य अंतर्राज्यीय विषयों को लेकर बैठक बुलाई थी, लेकिन मुख्यमंत्री और मंत्री, दोनों ने एक ही पत्र के माध्यम से अपने आने की असमर्थता व्यक्त कर दी।
पीएम पर वादा खिलाफी का आरोप
ईआरसीपी को लेकर प्रधानमंत्री जी पर वादा-खिलाफी का आरोप मुख्यमंत्री और उनके सिपहसालार लगाते रहते हैं। प्रधानमंत्री जी ने अपने वक्तव्यों में परियोजना के लिए तकनीकी मूल्यांकन के पश्चात संवेदनशीलता के साथ विचार करने जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया है। अपने किसी भी वक्तव्य में उन्होंने इसे राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने का वादा करने की बात नहीं की है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

नोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डDelhi LG Resigned: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, निजी कारणों का दिया हवालाIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.