scriptPower Company distressing small consumers now in this way | बिजली उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ाने वाली आई एक और खबर | Patrika News

बिजली उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ाने वाली आई एक और खबर

बिजली का बिल अदा करने में की जरा सी चूक तो कट जाएगा कनेक्शन, करोड़ों के बकायेदारों का बाल भी बांका नहीं, छोटी-मोटी बकाया पर ही कट चुके सात लाख कनेक्शन

जोधपुर

Published: January 13, 2022 07:10:22 pm

जोधपुर। बिजली कम्पनियां कभी घाटे तो कभी तरह तरह के सैस के नाम पर आम उपभोक्ताओं की जेब पर डाका डालती रहती है, लेकिन आठ-दस सरकारी विभागों में बरसों से बकाया 769 करोड़ रुपए की रकम वसूलने में ही उसके फ्यूज उड़े हुए हैं। इन बकायादारों पर इनका वश नहीं चलता, लेकिन कोई साधारण उपभोक्ता दो-चार महीने भी बिल नहीं भरे तो बिजली कम्पनी के कारिंदे कनेक्शन काटने पहुंच जाते हैं। Jodhpur Discom के 12 सर्किल में 7 लाख से ज्यादा छोटे बकायादार उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे जा चुके हैं।
power_company.jpg
जोधपुर डिस्कॉम के अधीन प्रदेश के 10 जिलों में 12 सर्किल आते हैं। इनमें से बीकानेर शहर की विद्युत आपूर्ति का जिम्मा निजी कंपनी के पास हैं। इन सभी सर्किल के केंद्र व राज्य के विभिन्न सरकारी दफ्तरों पर गत नवम्बर तक डिस्कॉम की 768.30 करोड़ रुपए की बकायादारी थी। इनका तो बिजली कम्पनी बाल भी बांका नहीं कर पाई। इसके ठीक उलट डिस्कॉम ने बिल न भरने वाले 7 लाख 13 हजार 263 आम उपभोक्ताओं के कनेक्शन ही काट दिए।
स्थानीय निकायों में सर्वाधिक बकाया
डिस्कॉम के बकायादारों में सबसे बड़े डिफॉल्टर स्थानीय निकाय हैं। म्यूनिसिपल बॉडीज व यूआईटी #UIT में 301 करोड़ से ज्यादा बकाया है। इसके बाद जलदाय विभाग पर 239 करोड़ और केंद्रीय कार्यालयों पर 164 करोड़ रुपए की बकायादारी है।
सेटलमेंट में भी नहीं बनी बात
डिस्कॉम का यह बकाया कई बरसों से चल रहा है। इस दौरान दिसम्बर 2017 में 126.43 करोड़ रुपए बकाया के वनटाइम सैटलमेंट की कोशिश की गई। इसमें से डिस्कॉम ने वित्तीय वर्ष 2018-19 में 84.28 करोड़ का अरबन सैस #UrbanCess समायोजित कर दिया। फिर भी भी सैटलमेंट के नाम पर अब भी 42.03 करोड़ रुपए की वसूली नहीं हो पाई है।
किसमें कितना बकाया

सर्किल---केंद्रीय कार्यालय---जलदाय---जेजेवाय---पंचायत---प्रशासन---पुलिस---निकाय---अन्य---कुल

जोधपुर शहर---365.55---841.80--0.00---0.00--22.79---29.47---3596.51--0.00--48.56.12
जोधपुर जिला--170.63---7384.45--13889.57---457.45---59.53---69.01--849.88---441.23---23321.75
पाली---23.11---459.77---261.64---39.79---11.87---24.32---1328.67---27.91---2177.08
सिरोही---40.28---265.80---40.84---0.00---7.85---10.26---641.90---145.36---1152.29
जालोर---29.65---3708.88--86.26---75.91---19.87---25.20---565.83---218.86---4730.46
बाड़मेर---57.43---2176.88---350.71---80.50---61.56---26.15---845.35---182.14---3780.72
जैसलमेर---578.84---1839.73---0.00---100.67---7.47---19.94---466.20---132.21---3145.06
बीकानेर जिला---53.08---3338.49---316.62---211.43---48.50---55.01---125.97---824.01---4973-11
हनुमानगढ़---15.85---98.86---0.00---1.05---13.75---11.24---918.56---17.87---1077.18
श्रीगंगानगर---142.39---200.61---180.40---19.43---78.71---108.23---744.60---112.46---1586.83
चूरू---121.83---3133.17---240.11---160.08---92.62---181.18---1293.73---45.93---5268.65
बीकानेर शहर*---50.47---439.89---0.00---62.71---1153.46---32.96---18724.58---296.32---20760.39

कुल---1649.11---23888.33---15366.15---1209.02---1577.98---592.97---30101.78---2444.30---76829.64

(बकाया 30 नवम्बर 2021 तक लाख रुपए में)

कहां कितने कनेक्शन कटे

जोधपुर सिटी---62,343
जोधपुर जिला---81,928
पाली-------------92,795
सिरोही-----------33,459
जालोर-----------47,176
बाड़मेर-----------66,223
जैसलमेर---------20,695
बीकानेर जिला---66,468
हनुमानगढ़--------60,674
श्रीगंगानगर-------85,101
चूरू-----------------65,831
बीकानेर सिटी-----30,571
कुल-------------7,13,264

(आंकड़े 31 अकटूबर 2021 तक)
जनउपयोगी विभागों पर सख्ती कर नहीं सकते
'सरकारी विभागों में बकाया राशि बढ़ रही है इसके लिए वसूली के प्रयास भी लगातार जारी है। आज ही पीएचईडी के अधिकारियों के साथ संबंध में मीटिंग भी हुई है। जो विभाग जन उपयोगिता के साथ सीधे जुड़े हुए हैं उनके कनेक्शन काटने या अन्य सख्ती भी नहीं कर सकते।'
-अविनाश सिंघवी, एमडी जोधपुर डिस्कॉम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजविराट कोहली ने किसके सिर फोड़ा हार का ठीकरा?, रहाणे-पुजारा का पत्ता कटना तयएसईसीएल ने प्रभावित गांवों को मूलभूत सुविधा देना किया बंद, कोल डस्ट मिले पानी से बर्बाद हो रहे हैं खेततीसरी लहर का खतरनाक ट्रेंड, डाक्टर्स ने बताए संक्रमण के ये खास लक्षण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.