हनी ट्रैप : पॉवर ऑफ अटॉर्नी, वसीयतनामा व बेचाननामा जब्त

- हनी ट्रैप में फंसाकर सात बीघा जमीन हड़पने का मामला, एक और आरोपी गिरफ्तार

By: Vikas Choudhary

Published: 30 Jun 2020, 12:32 AM IST

जोधपुर.
युवती से मिलाने की आड़ में खाजूवाला से पूर्व सरपंच के पुत्र को जोधपुर में डिगाड़ी बुलाकर डरा-धमकाकर १२ लाख रुपए मांगने और सात बीघा जमीन का बेचाननामा कराने के मामले में बनाड़ थाना पुलिस ने एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया। युवती व पीडि़त से मारपीट करने वाले दो युवकों का अभी तक सुराग नहीं लग पाया।

थानाधिकारी अशोक आंजणा के अनुसार प्रकरण में बीकानेर जिले में खाजूवाला निवासी अधिवक्ता विनोद भोमारिया, मेड़ता सिटी थानान्तर्गत लिलिया गांव निवासी राजूराम जाट व सांवरदास वैष्णव को गिरफ्तार किया गया था। इनसे जांच के बाद देवराज सरगरा को भी गिरफ्तार कर लिया गया। देवराज ने सात बीघा जमीन का बेचाननामा अपने नाम कराया था। आरोपियों की निशानदेही से जमीन के संबंध में पावर ऑफ अटॉर्नी, वसीयतनामा व देवराज के नाम पर बेचाननामा बरामद किया।
चारों आरोपियों को सोमवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए गए। दो दिन बंधक बनाकर रखने के दौरान पीडि़त से मारपीट करने वाले दो अन्य युवकों व हनी ट्रैप में शामिल युवती पकड़ में नहीं आ सकी है।

राशि के अभाव में बेचाननामे की अहमियत नहीं
खाजूवाला निवासी कालूराम रैगर को अधिवक्ता विनोद भोमरिया, राजूराम व सांवरदास ने युवती के साथ वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने के लिए बारह लाख रुपए मांगे थे। राशि देने में असमर्थता जताने पर आरोपियों ने कालूराम रैगर के नाम लूणावास खारा स्थित सात बीघा जमीन की पॉवर ऑफ अटॉर्नी व वसीयतनामा कराया था। जमीन हस्तांतरित न हो पाने की वजह से आरोपियों ने देवराज के नाम बेचाननाम कराया था। चूंकि जमीन के बेचाननामे में राशि का लेन-देन नहीं था। एेसे में इसकी अहमियत नहीं होगी।

Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned