मंडोर सैटेलाइट अस्पताल का निरीक्षण करने आए प्राचार्य को मिली उलाहना

मंडोर सैटेलाइट अस्पताल का निरीक्षण करने आए प्राचार्य को मिली उलाहना
मंडोर सैटेलाइट अस्पताल का निरीक्षण करने आए प्राचार्य को मिली उलाहना

Abhishek Bissa | Publish: Sep, 23 2019 10:00:16 PM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

शिवराम नत्थुजी टाक राजकीय चिकिसालय मंडोर का सोमवार को डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. एसएस राठौड़ ने निरीक्षण किया

जोधपुर. शिवराम नत्थुजी टाक राजकीय चिकिसालय मंडोर का सोमवार को डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. एसएस राठौड़ ने निरीक्षण किया। इस दौरान क्षेत्रवासियों ने प्राचार्य से कहा कि राज्य सरकार की ओर से अस्पताल में सभी सुविधाएं हैं, लेकिन लचर व्यवस्था व मैन पॉवर की कमी के कारण सुविधाओं का लाभ मरीजों को नहीं मिल रहा है। इस दौरान लोगों ने मांग रखी कि अस्पताल प्रभारी को हटाया जाए।
क्षेत्रवासियों ने अस्पताल की अव्यवस्थाओं को लेकर मुख्यमंत्री को भी पत्र भेजा। इस दौरान प्राचार्य डॉ. राठौड़ से लोगों ने अस्पताल की समस्याओं को लेकर कहा कि सैटेलाइट अस्पताल में गर्भवती महिलाओं की सिजेरियन डिलीवरी नहीं हो रही है। इएनटी, ऑर्थोपेडिक, सोनोग्राफी व डायलिसिस की सुविधा तक नहीं है। मेडिकल कॉलेज की सभी यूनिटें भी बंद पड़ी है। एंबुलेंस चालकों तक की कमी है। युवक काग्रेस के जिला सचिव लक्षमण सिंह सोलंकी ने कहा कि लग ही नहीं रहा हैं कि ये अस्पताल डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के अधीनस्थ संचालित है। सीसी टीवी व बायोमेट्रिक मशीनें तक खराब है। सोलंकी ने कहा कि अस्पताल के प्रभारी को बदला जाए। इस दौरान प्राचार्य डॉ. राठौड़ ने नया नाम सुझाने के लिए कहा। इस पर लोगों ने कहा कि उन्हें सिर्फ व्यवस्थाओं में सुधार चाहिए, प्रभारी भले ही किसी ही बना दिया जाए। निरीक्षण के दौरान अस्पताल के प्रभारी डॉ. राजेश टेवानी सहित कई नर्सिंग अधिकारी, कर्मचारी व क्षेत्रवासी मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned