जोधपुर. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) जोधपुर के होने वाले निदेशक प्रो. शांतनु चौधरी ने रविवार को आइआइटी कैंपस का दौरा किया और संस्थान के सोलर विजन के बारे में जानकारी ली।

 

वे करीब दो घण्टे तक कैंपस में रहे और सभी गतिविधियों का जायजा लिया। प्रो. शांतनु संभवत: एक माह बाद निदेशक का पदभार संभालेंगे।

 

आइआइटी के वर्तमान निदेशक प्रो. सीवीआर मूर्ति के बुलावे पर रविवार दोपहर को कैंपस पहुंचे प्रो. शांतनु को निर्माणाधीन कैंपस, निदेशक कक्ष, कॉन्फ्रेंस रूम, सेमिनार हॉल, हॉस्टल, मैस, कैफेटेरिया, प्रयोगशालाएं और टनल भी देखी।

 

उन्हें आइआइटी के अनुसंधान कार्यों के बारे में भी बताया। प्रो. शांतनु इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर्स की ओर से शनिवार को इंजीनियर्स डे पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल होने जोधपुर आए थे। उन्हें सतीश कुंती गोयल इंटरनेशनल एवार्ड से सम्मानित किया गया।

 

प्रो. शांतनु वर्तमान में पिलानी स्थित केंद्रीय इलेक्ट्रोनिकी अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (सीरी) के निदेशक हैं। केंद्र सरकार ने उन्हें आइआइटी निदेशक बनने का ऑफर लैटर दिया है। वे सोमवार को स्वीकृति पत्र भेजेंगे।

 

इसके बाद उनके आइआइटी निदेशक बनने के आदेश जारी होंगे। फिर वे सीरी (पिलानी) से नो ड्यूज लेंगे और रिलीव होंगे। प्रो. शांतनु मूलत: आइआइटी दिल्ली के प्रोफेसर हैं। सीरी से रीलिव होकर वे आइआइटी दिल्ली में जॉइनिंग देंगे और वहां से 5 साल का अवकाश लेने के बाद आइआइटी जोधपुर निदेशक का पदभार संभालेंगे।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned