scriptProsthetic limbs - More than one thousand will get freedom from curse | Prosthetic limbs - एक हजार से ज्यादा को मिलेगी दिव्यांगता के अभिशाप से मुक्ति | Patrika News

Prosthetic limbs - एक हजार से ज्यादा को मिलेगी दिव्यांगता के अभिशाप से मुक्ति

Prosthetic limbs - खींचन में एक माह चलेगा शिविर
- निःशुल्क लगेंगे कृत्रिम हाथ-पैर

जोधपुर

Updated: April 07, 2022 09:38:31 pm

Prosthetic limbs - अपंगता का अभिशाप झेल रहे लगभग तीन सौ लोगों को जिले के खींचन कस्बे में एक महीने चलने वाले शिविर में कृत्रिम हाथ पैर लगाए जाएंगे। इसके अलावा केसरबाई चम्पालाल जैन स्मृति निःशुल्क दिव्यांगता निवारण शिविर में 700 से अधिक लोगों को ट्राइ साइकिल, क्रचेज, व्हील चेयर व हियरिंग एड जैसे उपकरण भी वितरित किए जाएंगे।
Prosthetic limbs - एक हजार से ज्यादा को मिलेगी दिव्यांगता के अभिशाप से मुक्ति
Prosthetic limbs - एक हजार से ज्यादा को मिलेगी दिव्यांगता के अभिशाप से मुक्ति
महावीर जयंती व डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती के उपलक्ष में एचबीएस ट्रस्ट जोधपुर, इंटरनेशनल ह्यूमन बेनिफिट सर्विस न्यूयार्क, जयपुर फुट यूएसए तथा भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किए जा रहे शिविर का उद्घाटन 14 अप्रेल को जिले के फलोदी उपखंड स्थित खींचन के कलापूर्णम जनरल अस्पताल में होगा और यह 14 मई तक चलेगा।
भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति व जयपुर फुट के संस्थापक के डीआर मेहता ने बताया कि शिविर की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। लाभार्थियों का पंजीकरण पूरा हो चुका है। जरूरतमंद दिव्यांगों को कृत्रिम हाथ-पैर लगाने के अलावा जरूरी उपकरण भी निःशुल्क उपलब्ध करवाए जाएंगे। शिविर के लिए हुए पंजीकरण में 149 लोगों को कृत्रिम पैर, 88 को कृत्रिम हाथ और 55 दिव्यांगों को कृत्रिम हाथ व पैर दोनों लगाए जाने की मांग सामने आई है। शिविर में 360 लोगों को श्रवण यंत्र, 214 को ट्राइ साइकिल, 119 को क्रचेज व 87 दिव्यांगों को व्हीलचेयर भी निःशुल्क उपलब्ध करवाई जाएगी।
35 देशों में 85 शिविर
जयपुर फुट यूएसए के चेयरमैन प्रेम भंडारी ने गत दिनों न्यूयॉर्क में आयोजित अंतरराष्ट्रीय मातृ भाषा दिवस समारोह में यह शिविर लगाने की घोषणा की थी। वर्ष 2016 में मध्यप्रदेश के महू में अम्बेडकर की 125वीं जयंती पर आयोजित ऐसे ही शिविर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था। बाड़मेर के नाकोड़ा में साल 2018 में आयोजित शिविर में भी दिव्यांगों को कृत्रिम हाथ पैर लगाए गए थे। उल्लेखनीय है कि दिव्यांगों को कृत्रिम हाथ-पैर लगाने के लिए अब तक 35 देशों में 85 शिविर लगाए जा चुके हैं। इन शिविरों में कृत्रिम हाथ-पैर निःशुल्क लगाए जाते हैं, जबकि निजी अस्पतालों में ये कृत्रिम अंग लगाने पर करीब दस लाख रुपए का खर्च आता है। कृत्रिम पैर लगने पर दिव्यांग न सिर्फ ड्राइविंग कर सकते हैं, बल्कि दौड़ भी सकते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

जापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.