पीएचसी में नहीं मिलता रेबीज का टीका

चिकित्सा विभाग की लापरवाही का आलम यह है कि रेबीज का टीका लगवाने के लिए लोगों को दूसरे कस्बे या जिला मुख्यालय पर जाना पड़ता है। पीएचसी देणोक में रेबीज का टीका नहीं मिलने से मरीज परेशान है।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की उदासीनता की वजह से कस्बे के लोगों को रेबीज का टीका लगाने के लिए फलोदी या जोधपुर जाना पड़ता है। यहां की पीएचसी पर रेबीज का टीका नहीं मिल रहा हैं। अस्पताल में टीका नहीं मिलने की वजह से लोगों को बाजार से टीका खरीदना पड़ता है, जोकि काफी महंगा है।

इस दौरान बरसिंगों का बास निवासी वार्डपंच झूमरलाल प्रजापत ने बताया कि उनके पिता भीखाराम प्रजापत को किसी आवारा श्वान ने काट लिया था। सोमवार को रेबीज का टीका लगाने के लिए अस्पताल पहुंचे तो चिकित्साकर्मियों ने बताया कि वहां टीका उपलब्ध नहीं हैं। जबकि राज्य सरकार की ओर से सभी पीएचसी स्तर के चिकित्सालयों में रेबीज का टीका उपलब्ध करवाया जाता हैं, लेकिन उक्त पीएचसी में कार्यरत चिकित्साकर्मियों की लापरवाही के कारण टीका लाया नहीं जाता हैं,जिसका खामियाजा क्षेत्र के ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा हैं।

कस्बे सहित आस-पास के मोरिया, शैतानसिंहनगर, धोलासर, पलीना, चैनपुरा, नयाबेरा, इन्दों का बास, बरसिगों का बास, बरजासर खावा की ढाणी, मुंजासर आदि ग्रामपंचायतों क्षेत्र में यह एक मात्र सरकारी चिकित्सालय हैं, लेकिन यहां पर पूरी दवाएं उपलब्ध नहीं होने से मरीज परेशान है। निस.

डिमान्ड भेजेते नहीं होंगे

देणोक पीएचसी में कार्यरत चिकित्साकर्मियों द्वारा समय-समय पर रेबीज के टीके की डिमान्ड भेजी नहीं होगी। इसलिए टीका नहीं होगा। पीएचसी को रेबीज के टीके मिलते हैं।

- डॉ. महेश भार्गव, ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी, फलोदी।

Harshwardhan bhati
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned