सरकार की इस मनमानी पर विरोध जताने उतरे अंग्रेजी निजी स्कूल, अभिभावक-विद्यार्थी भयभीत

स्कूलों का कहना है-शिक्षा विभाग ने पाठ्यपुस्तकें प्रकाशित नहीं कीं

 

By: Abhishek Bissa

Published: 12 Nov 2017, 10:10 AM IST

जोधपुर . इन दिनों पांचवीं बोर्ड परीक्षा का अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों की ओर से विरोध किया जा रहा है। अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के संचालकों का कहना है कि पांचवीं बोर्ड की परीक्षा की आधिकारिक विज्ञप्ति सत्र शुरू होने से पूर्व कभी नहीं दी गई। पहली आधिकारिक विज्ञप्ति 26 अक्टूबर को प्रकाशित की गई, जो उचित नहीं है। सभी ने अंग्रेजी माध्यमिक स्कूलों को बोर्ड परीक्षा से छूट देने की मांग की है।

 

सभी निजी शिक्षण संस्थान ने बताया कि विभाग ने सत्र 2017-2018 शुरू होने से पूर्व पाठ्यपुस्तकें प्रकाशित नहीं की हैं। विभाग की ओर से जो पुस्तकें उपलब्ध नहीं कराई गई हैं, किसी भी पुस्तक विक्रेता के पास भी उपलब्ध नही हैं। इसके साथ ही पांचवीं बोर्ड परीक्षा केन्द्र 3-4 किलोमीटर दिया जाएगा, जो सुरक्षा की दृष्टि के तहत बच्चों के लिए उचित नही है। नौ वर्ष तक आयु के विद्यार्थी इतने परिपक्व नही होते कि परीक्षा केन्द्र पर जाकर वीक्षकों के सामने परीक्षा दे सकें।

 

निजी स्कूल संचालकों ने तर्क दिया कि हर विद्यालय से नवोदय विद्यालय व केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से सम्बन्धित विद्यालयों में प्रवेश लेने के लिए कई बच्चों व उनके अभिभावकों की रुचि रहती है। इसके लिए विद्यार्थी अपना सम्बन्धित विद्यालय में जाने के लिए पंजीकरण करवाते हैं। इन विद्यालयों (नवोदय विद्यालय व केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) का शैक्षणिक सत्र अप्रेल से शुरू हो जाता है और बोर्ड का परीक्षा परिणाम जून तक आता है। इस स्थिति में राजस्थान बोर्ड से सम्बन्धित कोई भी विद्यालय परीक्षा परिणाम से पहले बच्चे की टीसी जारी नहीं कर सकता।

 

इस तरह किसी छात्र का पांचवीं कक्षा उतीर्ण होने के बाद भी वह नवोदय विद्यालय या किसी अन्य सीबीएसई विद्यालय में प्रवेश से वंचित रह सकता है। इस व्यवस्था से अभिभावकों में भी रोष है। गौरतलब है कि इस मामले में राजस्थान पत्रिका ने गत ६ नवंबर को 'बोर्ड परीक्षा के फेर में पांचवीं के बच्चे!' खबर प्रकाशित कर मामला उजागर किया था।

Abhishek Bissa Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned