रामदेवरा मेला २०१७- आस्था की आड़ में यूं चल रहा डोडा-अफीम की तस्करी का धंधा!

रामदेव मेले के लिए रामदेवरा जा रहे जातरुओं की आड़ में डोडा पोस्त व अफीम तस्करों ने बड़े स्तर पर तस्करी करना कर दिया शुरू.. 

By: Vikas Choudhary

Published: 18 Aug 2017, 07:34 PM IST

मध्यप्रदेश से खेप पहुंच रही मारवाड़ के इलाकों में डोडा-पोस्त बंद होने के बाद बढ़ी तस्करी अब जातरूओं की गाडि़योंं भी जांच करेगी पुलिस सुस्त आबकारी महकमा अब भी मुखबिरी के इंतजार में..

फैक्ट फाइल
२५ थाने- जोधपुर कमिश्नरेट में

१७ थाने- जोधपुर ग्रामीण में

६ थाने- आबकारी विभाग के जोधपुर जिले में

१ - प्रकरण दर्ज गत छह माह में डोडा तस्करी का आबकारी में

१०- मामले पुलिस ने पकड़े पत्रिका एक्सक्लूसिव

जोधपुर. लाखों लोगों की आस्था के प्रतीक बाबा रामदेव के मेले के लिए रामदेवरा जा रहे जातरुओं की आड़ में डोडा पोस्त व अफीम तस्करों ने बड़े स्तर पर तस्करी करना शुरू कर दिया है। ये तस्कर वाहनों पर रामदेवरा की झण्डी लगा कर मध्यप्रदेश से डोडा की खेप जोधपुर सहित आसपास के इलाकों में सप्लाई कर रहे हैं। इस सूचना के बाद पुलिस भी अलर्ट हो गई है। अब जोधपुर पुलिस ने एेसे वाहनों की सघनता से जांच करने की तैयारी कर ली है। इधर, एनडीपीएस प्रकरणों की कार्रवाई में सुस्त चल रहा आबकारी विभाग मुखबिरी पर ही निर्भर है। फिलहाल आबकारी के पास अलग से कोई प्लान नहीं है।

 

 

एमपी से इन रूट होकर पहुंच रही खेप
मध्यप्रदेश में डोडा की खेती बड़े स्तर पर होती है। इस लिहाज से यहां से तस्करी भी अधिक होती है। इन दिनों रामदेवरा जाने वाले जातरुओं का सीजन चल रहा है। एेसे में लाखों लोग मध्यप्रदेश से विभिन्न वाहनों के माध्यम से यहां से आते जाते हैं। पुलिस आम तौर पर इन वाहनों की जांच नहीं करती। एेसे में डोडा तस्करों ने इसका नाजाइज फायदा उठाते हुए मारवाड़-गोडवाड़ इलाकों में मध्यप्रदेश से डोडा व अफीम की खेप लाना शुरू कर दी। सूत्रों की मानें तो ये तस्कर उदयपुर, चित्तौडग़ढ़ और कोटा के रास्तों से होकर पाली होते हुए जोधपुर जिले में प्रवेश कर रहे हैं। पाली के सेंदड़ा, बर व रायपुर रूट दूसरी और देसूरी व रणकपुर रूट से ये तस्कर जोधपुर पहुंच रहे हैं। दिखने में ये जातरू की तरह ही होते हैं, लेकिन इस आड़ में तस्करी कर रहे हैं। पुलिस ने आबकारी ने केवल एक मामला पकड़ा..डोडा व अफीम तस्करी के मामलों में पुलिस अधिक चौकन्नी नजर आ रही है। पिछले दो महीने के दौरान जोधपुर पुलिस ने दस मामले डोडा व अफीम तस्करी के पकड़े हैं। जबकि आबकारी विभाग केवल एक मामला ही पकड़ा पाया है। आबकारी विभाग के पास एनडीपीएस एक्ट की कार्रवाई का अधिकार होने के बावजूद वह कार्रवाई करने से कतराता है।

 

 

बढ़े हैं तस्करी के मामले
यह सही है कि डोडा-पोस्त पर रोक लगने के बाद डोडा तस्करी बढ़ी है। जोधपुर पुलिस अलर्ट है। पिछले दो महीने में अच्छी कार्रवाई की है। अब जातरुओं के वाहनों पर भी नजर रखी जाएगी, इसके लिए सभी थानाधिकारियों को अलर्ट किया जाएगा।

- डॉ. रवि
पुलिस अधीक्षक, जोधपुर ग्रामीण

 


मुखबिर से सूचना पर कार्रवाई करते हैं

डोडा व अफीम तस्करी के मामलो में पुलिस ही अधिक कार्रवाई करती है। आबकारी विभाग मुखबिर से सूचना मिलने पर कार्रवाई करता है। एक महीने पहर्ले ओसियां में एक मामला डोडा तस्करी का पकड़ा था। जातरुओं की आड़ में डोडा तस्करी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए प्लान बना रहे हैं।
- ओपी विश्नोई

जिला आबकारी अधिकारी
जोधपुर

Ramdevra fair 2017
Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned