रेंज स्तरीय टीम गठित, प्रत्येक को पांच-पांच गिरफ्तारी का टास्क

Vikas Choudhary

Updated: 11 Dec 2019, 12:47:53 AM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर.
जिले के फलोदी थानान्तर्गत ढढु गांव में निर्माणाधीन सोलर प्लांट पर हमले व फायरिंग के साथ आगजनी के मुख्य बदमाशों की धरपकड़ के लिए पुलिस महानिरीक्षक (रेंज) जोधपुर सचिन मित्तल ने पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में २१ सदस्यीय टीम गठित की है। टीम के प्रत्येक अधिकारी-जवान को पांच-पांच बदमाशों की धरपकड़ का टास्क दिया गया। उधर, हमले के मास्टरमाइण्ड व कोटा पुलिस के निलम्बित कांस्टेबल सहित चार आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा और दो जनों की रिमाण्ड अवधि बढ़ाने के आदेश दिए।
पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) राहुल बारहठ के अनुसार हमले के मामले में अब तक दस जनों को गिरफ्तार किया जा चुका है। कोटा पुलिस के निलम्बित कांस्टेबल प्रभुराम व बचनाराम हमले के मास्टरमाइण्ड हैं। हमले का मुख्य आरोपी बचनाराम भादू सहित अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। इनकी तलाश की जा रही है।

फलोदी थानाधिकारी लक्ष्मणसिंह का कहना है कि रिमाण्ड अवधि समाप्त होने पर कोटा पुलिस के निलम्बित सिपाही प्रभुराम भादू, उसके भतीजे राजेश व सुरेन्द्र, रमेश पुत्र भीखाराम बिश्नोई, सुभाष बिश्नोई और दिनेश बिश्नोई को अदालत में पेश किया गया। इनमें से सुभाष व दिनेश बिश्नोई की रिमाण्ड अवधि दो-दो दिन और बढ़ाने के आदेश दिए गए। निलम्बित कांस्टेबल सहित अन्य को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया।
मादक पदार्थ तस्करी में लिप्त है कांस्टेबल

ढढु गांव निवासी प्रभुराम बिश्नोई कोटा पुलिस में कांस्टेबल है। वह डोडा पोस्त तस्करी के एक मामले में गिरफ्तार हो चुका है। तब से वह निलम्बित है। एसपी (ग्रामीण) राहुल बारहठ का कहना है कि वह जिले के बड़े तस्करों में शामिल है। हमले में वह और उसके भाई बचनाराम की मुख्य भूमिका सामने आई है।
सौ से अधिक नामजद, कुल दो सौ के करीब

चालीस वाहनों में सवार डेढ़ सौ से दो सौ बदमाशों ने हथियारों से लैस होकर सोलर प्लांट पर धावा बोला था। इनमें से सौ से अधिक जनों को नामजद किया गया है। इनकी जल्द गिरफ्तारी के लिए रेंज स्तरीय विशेष टीम गठित की गई। सिरोही के उपाधीक्षक मदनसिंह के नेतृत्व में निरीक्षक नरेन्द्र पूनिया, सात थानाधिकारी, पांच उप निरीक्षक, चार एएसआई, दो हेड कांस्टेबल और एक कांस्टेबल को शामिल किया गया है। विशेष टीम की फलोदी में बैठक ली गई। जिसमें बदमाशों की जल्द से जल्द धरपकड़ पर चर्चा की गई। प्रत्येक अधिकारी व जवान को चार से पांच बदमाशों को पकडऩे के टास्क दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned