scriptRevealed in the research of the University of Atlanta, USA | को वैक्सीन को लेकर आई बड़ी खबर, जानिए क्या है मामला | Patrika News

को वैक्सीन को लेकर आई बड़ी खबर, जानिए क्या है मामला

अमरीका की यूनिवर्सिटी ऑफ अटलांटा में रिसर्च

जोधपुर

Published: January 15, 2022 07:31:40 pm

जोधपुर. कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन पर स्वदेशी को-वैक्सीन की बूस्टर डोज 90 प्रतिशत तक कारगर साबित हुई है। भारत से अमरीका भेजे गए वैक्सीन के फेज-टू ट्रायल में दोनों डोज व छह माह बाद बूस्टर डोज लगाने वालों के सैंपल पर रिसर्च किया गया है। इसमें साफ हुआ हैं कि यह वैक्सीन कोरोना के अभी तक मिले सभी वेरिएंट व ओमिक्रॉन के खिलाफ पूर्ण रूप से कारगर है। इससे बनी एंटीबाडी में 90 प्रतिशत तक कोरोना को खत्म करने की क्षमता रखती है। स्थिति स्पष्ट हैं कि कोविशिल्ड के साथ को-वैक्सीन भी अच्छी है।
उल्लेखनीय हैं कि आइसीएमआर (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) के निर्देशन में पूणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ने भारत बायोटेक इंटरनेशनल के सहयोग से स्वदेशी को-वैक्सीन विकसित की थी। इसका क्लीनिकल ट्रायल देश में तीन चरणों में 60 वर्ष से लेकर दो वर्ष तक के बच्चों पर भी अच्छा रहा। अमरीका की यूनिवर्सिटी ऑफ अटलांटा में कराई गई रिसर्च में ओमिक्रॉन पर स्वदेशी को-वैक्सीन की बूस्टर डोज कारगर होने की बात सामने आई है।
को वैक्सीन को लेकर आई बड़ी खबर, जानिए क्या है मामला
को वैक्सीन को लेकर आई बड़ी खबर, जानिए क्या है मामला
सभी वेरिएंट में रहेगी कारगर
यह वैक्सीन अल्फ ा, बीटा,जीटा, कप्पा,डेल्टा और ओमिक्रॉन के खिलाफ कारगर है। कोई भी एंटीजन एपीटोप के जरिए अंगों से जुड़ता है। यह वैक्सीन मल्टी एपीटोप बनाती है और शरीर में प्रवेश करने वाला असली कोरोना वायरस अंगों से जुड़ नहीं पाता है। जो आखिर बेहाल होकर शरीर से निष्क्रिय हो जाता है।
ये हुआ और एेसे रिजल्ट मिले

भारत बायोटेक इंटरनेशन ने दूसरे चरण के ट्रायल व बूस्टर डोज के सैंपल व डाटा पर अमरीका की यूनिवर्सिटी ऑफ अटलांटा में रिसर्च कराया। भारत बायोटेक ने ट्रायल के दौरान वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने वालों को छह माह बाद को-वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवाने वाले और उसके 28 दिन बाद उनके ब्लड सैंपल से सीरम से एंटीबाडी जांच कराने वालों के सैंपल व डाटा मुहैया कराए। यूनिवर्सिटी ऑफ अटलांटा के विशेषज्ञों ने रिसर्च किया। रिसर्च में सामने आया कि वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवाने वालों में ह्यूमोरल इम्युनिटी और सेल मीडिएटेड इम्युनिटी पाई गई। दोनों तरह की एंटीबाडी मिलने का मतलब है कि इस वैक्सीन से बनी एंटीबाडी किसी भी प्रकार के एंटीजन को पूरी तरह से खत्म करने में कारगर है। वायरस को खत्म करने की क्षमता मिली।
क्या कहते हैं हमारे एक्सपर्ट
कोविशिल्ड व को-वैक्सीन दोनों ही अच्छी है। अभी बड़ी बात ये हैं कि लोगों को समय पर आकर वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए। जिन्होंने प्रथम-द्वितीय डोज नहीं लगवाई, वे लगवा लें। प्रिकॉशन डोज भी आकर लगवा ले।
- डॉ. पंकज भारद्वाज, एडिशनल प्रोफेसर, कम्यूनिटी मेडिसिन एंड फैमिली मेडिसिन, एम्स जोधपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइन 4 तारीखों में जन्मी लड़कियां पति की चमका देती हैं किस्मत, होती है बेहद लकी“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहकम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

दिल्ली में हटा वीकेंड कर्फ्यू, बाजारों से ऑड-ईवन भी हुआ खत्म, जानिए और किन प्रतिबंधों में दी गई छूटराहुल गांधी ने फॉलोवर्स सीमित होने पर Twitter पर लगाया सरकार के दबाव में काम करने का आरोप, जानिए क्या मिला जवाबकेरल और कर्नाटक में 50 हजार तक सामने आ रहे नए केस, जानिए अन्य राज्यों का हालटाटा ग्रुप का हो जाएगा अब एयर इंडिया, कर्मचारियों को क्या होगा फायदा और नुकसान?झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलाUttarakhand Assembly Elections 2022: हरीश रावत की सीट बदली, देखिए Congress की नई लिस्टCG की बेटी अंकिता ने किया लद्दाख की 6080 मीटर सबसे ऊंची बर्फीली चोटी फतह, माइनस 39 डिग्री टेम्प्रेचर में भी हौसला रहा बुलंदUP Election 2022: प्रचार करने आए भाजपा के एक और उम्मीदवार को स्थानीय लोगों ने भगाया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.