scriptrussia ukraine war effect crude oil record jump | russia ukraine war के कारण क्रूड ऑयल रिकॉर्ड स्तर पर, पेट्रोल-डीजल लगाएंगे छलांग | Patrika News

russia ukraine war के कारण क्रूड ऑयल रिकॉर्ड स्तर पर, पेट्रोल-डीजल लगाएंगे छलांग

russia ukraine war का बुरा प्रभाव अब पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था पर भी देखने को मिल रहा है। इसके चलते वैश्विक बाजारों में जोरदार गिरावट आई है, तो दूसरी ओर कच्चे तेल का दाम आसमान पर पहुंच गया है।

जोधपुर

Published: March 07, 2022 03:42:57 pm

russia ukraine war के कारण सोमवार को Crude oil के भाव में साल 2008 के बाद सबसे बड़ा उछाल आया और इसकी कीमत 139 डॉलर प्रति बैरल को पार कर गई। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में पिछले कुछ समय से आग लगी हुई है। रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग का इसपर सीधा असर देखने को मिल रहा है।

कुछ इस प्रकार आई तेजी
रूस के यूक्रेन पर हमले के खिलाफ पश्चिमी देश लगातार रूस पर अपने प्रतिबंध तेज करते जा रहे हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय सहयोगी रूसी तेल के आयात पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहे हैं। इसके चलते brent crude oil price 139.13 डॉलर प्रति बैरल और डब्ल्यूटीआई 130.50 डॉलर पर पहुंच गया। सोमवार को तड़के कच्चे तेल की कीमत में एकाएक 10 डॉलर की तेजी आ गई और इसने 14 साल के उच्चतम स्तर को छू लिया। गौरतलब है कि साल 2008 में कच्चा तेल 147 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया था।
russia ukraine war के कारण क्रूड ऑयल रिकॉर्ड स्तर पर, पेट्रोल-डीजल लगाएंगे छलांग
russia ukraine war के कारण क्रूड ऑयल रिकॉर्ड स्तर पर, पेट्रोल-डीजल लगाएंगे छलांग
Crude Oil Price Reached 139 Per Barrel

जोधपुर में लग सकती है पेट्रोल-डीजल में आग
petrol और diesel की कीमतें जो भारत में चुनाव के कारण नहीं बढ़ पाई है। वह एक साथ बड़ा जंप ले सकती है एक तो चुनाव के बाद सामान्य छलांग पेट्रोल डीजल लगाएंगे तो वहीं कच्चे तेल की कीमतों के कारण जोधपुरवासियों को आगामी दिनों मे बड़ी परेशानी झेलनी पड़ सकती है।
यह है उछाल का कारण
कच्चे तेल में आई इस तेजी के प्रमुख कारण की बात करें तो रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध तेज होने के कारण अमेरिका, यूरोप और सहयोगी देशों ने रूस से तेल नहीं खरीदने का मन बनाया है। इसके कारण डिमांड के मुकाबले सप्लाई काफी कम रह गई और कच्चा तेल उछाल भरता हुआ 2008 के बाद अपने सर्वोच्च स्तर पर पहुंच गया है। यहां बता दें कि रूस दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा तेल उत्पादक है। गौरतलब है कि रूस ने यूक्रेन पवर हमले तेज कर दिए हैं और इस युदध में बड़ी संख्या में जनहानि हुई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.