शो 11 सितम्बर से सोनी इंटरटेनमेंट टेलीविजन पर सोमवार से शुक्रवार शाम 8.30 प्रसारित होगा

के. आर. मुण्डियार
जोधपुर.

छोटे पर्दे पर एक हर घर-परिवार को छूने वाला ऐसा शो शुरू हो रहा है, जिसको देखकर कई दर्शक सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि ऐसा तो उनके यहां भी हो रहा है। जी हां, सोनी टीवी मैं मायके चली जाऊंगी, तुम देखते रहियो पारिवारिक ड्रामे का शो लाया है। नए कांसेप्ट का इस शो में सास-बहू, मां-बेटी, पत्नी-पति, सास-दामाद के रिश्ते पर आधारित हैं। जिसमेंं घरेलू तकरार के साथ भावपूर्ण दृश्य भी कम नहीं हैं। यह शो 11 सितम्बर से सोनी इंटरटेनमेंट टेलीविजन पर सोमवार से शुक्रवार शाम 8.30 प्रसारित होगा।

शो में मुख्य रूप से समर का किरदार अभिनेता नमिश तनेजा और जया का किरदार अभिनेत्री सृष्टि जैन निभा रही हैं। दीया और बाती हम की प्रसिद्ध भाभो यानि नीलू वाघेला (राजस्थानी फिल्मों की प्रसिद्ध अभिनेत्री) शो में जया की मां सत्यादेवी के रूप में प्रभावी रोल निभा रही हैं। शो की कहानी भोपाल शहर की है। कहानी के अनुसार सत्यादेवी का अपनी बेटी (जो हाल ही ससुराल गई है) की जिन्दगी मेंं इतना दखल है कि उसका यह दखल सास-दामाद के बीच तनाव भी पैदा कर देगा। सत्यादेवी पेशे से वकील है, जो पारिवारिक विवाद वाले जोड़ों के न्यायालय में तलाक करवाने में अहम भूमिका निभाती है। रूतबे वाली सत्यादेवी को 3 बेटियों के लिए किसी तरह की परेशानी बर्दाश्त नहीं। हाल ही तीसरी बेटी जया ससुराल गई है।

सत्यादेवी को यह डर रहता है कि जिस स्थिति से वह गुजरी, ऐसे संकट उसकी बेटी न झेले। इसलिए वह पल-पल अपनी बेटी जया से फोन पर हाल-चाल जानती रहती है। जया अपनी मां से इतनी प्रभावित होती है कि वह उससे कुछ नहीं छिपाती है। हर बात मां से पूछती है। यह उसके ससुराल पक्ष को अच्छा नहीं लगता। मां-बेटी सत्यादेवी व जया के चक्कर में समर हाल-बेहाल होता रहता है। पूरी कहानी जया की परेशानी और सत्यादेवी के दखल के ईर्द-गिर्द ही घूमती रहेगी। बहू यानि जया को अपने ससुराल में जब जब ऐसा लगता है कि उसकी स्वतंत्रता छीनी जा रही है तब तब वह मायके जाने के लिए बोलती रहती है। इसके अलावा जया की सास रमा के रूप में अदिति देशपांडे, हेमंत चौधरी के रूप में पुष्पेंद्र कुमार और नानी के किरदार में लिली पटेल दर्शकों का मनोरंजन करेंगी।


यह बोले कलाकार-

'सत्यादेवी स्ट्रांग मां हैं'-
भाभो के करेक्टर की अलग पहचान है। वो आइकोन करेक्टर है। सत्यादेवी के करेक्टर की आत्मनिर्भर व स्ट्रांग मां के रूप में नई पहचान है। एक मां तीन बेटियों को बहुत संघर्ष से बड़ा करती है। बहुत पजेसिव है। बेटियों की तकलीफ के लिए लड़ती हैं। हर घर में मां है, इसलिए कहीं न कहीं हर घर में सत्यादेवी भी है। इसलिए शो बहुत लोकप्रिय होगा।

-नीलू वाघेला (शो में जया की मां सत्यादेवी का किरदार)


'जया मम्माज गर्ल'-

शो में जया वेडिंग प्लानर के रोल में है। जया मम्जाज गर्ल है। जया मां से बेहद प्रभावित है। ससुराल जाने के बावजूद जया को मां की बात ही सही लगती है। सुहानी सी एक लड़की में कृष्णा व मेरी दुर्गा में मां दुर्गा के बाद इस शो में मेरा किरदार बेहद चार्मिंग है। सभी को बहुत ही पसंद आएगा।
-सृष्टि जैन (शो में जया का किरदार)

'समर का अच्छा किरदार '
इस शो में समर का करेक्टर घरेलू, पॉजीटिव व सरल है। किसी बड़ी प्राब्लम मेंं भी गुस्सा व रियेक्ट नहीं करता है। सभी को प्यार से रहना सिखाता है। जो अच्छाइयां एक अच्छे पति, बेटे व दामाद में होने चाहिए, वह सब समर में मिलेंगे।

-नमिश तनेजा (शो में जया के पति समर के रूप में किरदार)

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned