जोधपुर जिले की 1442 स्कूलों के मिड डे मील खाद्यान्न व राशि आवंटन पर संकट, यह है बड़ा कारण

गौरतलब है कि मिड डे मिल योजना के तहत स्कूलों से प्रतिदिन लाभांवित होने वाले विद्यार्थियों की सूचना मिड-डे-मिल ऑटोमेटेड मॉनीटिरिंग सिस्टम प्रोजेक्ट के तहत की जा रही है।

By: Harshwardhan bhati

Published: 18 Dec 2018, 03:54 PM IST

जोधपुर. जिले की 1442 सरकारी स्कूलों के मिड-डे मिल पर संकट आ सकता है। प्रदेश के मिड-डे-मिल आयुक्त ने साफ चेताया कि जिन स्कूलों ने मिड-डे-मिल से प्रतिदिन लाभांवित होने वाले विद्यार्थियों की सूचना नहीं भेजी है, उन स्कूलों का जनवरी माह का खाद्यान्न व राशि का आवंटन नहीं हो पाएगा। आयुक्त ने जिला शिक्षा अधिकारी को सूचना भेजने में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए निर्देश दिए हैं।गौरतलब है कि मिड डे मिल योजना के तहत स्कूलों से प्रतिदिन लाभांवित होने वाले विद्यार्थियों की सूचना मिड-डे-मिल ऑटोमेटेड मॉनीटिरिंग सिस्टम प्रोजेक्ट के तहत की जा रही है। जिसके अन्तर्गत स्कूलों को प्रतिदिन टोल फ्री नम्बर पर एसएमएस केे जरिए लाभांवित विद्यार्थियों की सूचना भेजनी होती है। 3 दिसम्बर तक की रिपोर्ट के अनुसार जोधपुर जिले में कुल 17 शिक्षा ब्लॉक की 3535 में से 2093 ने ही सूचना भेजी है। इसलिए शेष 1442 स्कूलों ने सूचना भेजने में लापरवाही बरती है। मिड-डे-मिल आयुक्त ने सूचना नहीं भेजने वाली स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

Show More
Harshwardhan bhati
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned