बीकानेर में पुलिस निरीक्षक के पैतृक आवास की तलाशी

- आय से अधिक सम्पत्ति जुटाने का मामला, लॉकर में मिले स्वर्णाभूषण

By: Vikas Choudhary

Published: 03 Jul 2021, 02:13 AM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर.
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारियों ने शुक्रवार को आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने के मामले में घिरे जोधपुर के पुलिस निरीक्षक प्रदीप शर्मा के बीकानेर स्थित पैतृक आवास की तलाशी ली। इस दौरान वहां कोई उल्लेखनीय सामग्री या दस्तावेज नहीं मिले। उधर, लॉकर की तलाशी में सोने के आभूषण मिले हैं, जिन्हें एसीबी ने सामान्य माना है।

शर्मा के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद जोधपुर में फ्लैट, भोपालगढ़ में स्कूल, सूरसागर थाने में एसएचओ चैम्बर व क्वार्टर की गुरुवार को तलाशी ली गई थी, लेकिन बीकानेर स्थित पैतृक मकान बंद मिलने के कारण सील कर दिया गया था। शर्मा के माता-पिता शुक्रवार को जोधपुर से बीकानेर पहुंचे। इसके बाद एसीबी की टीम ने ने मकान खोलकर इनके सामने तलाशी ली। पावटा ए रोड स्थित एसबीआइ शाखा में लॉकर भी खुलवाकर जांच की गई। उसमें से तीस तोला सोने के आभूषण मिले।

एसीबी का कहना है कि निरीक्षक शर्मा की कई सम्पत्ति पर बैंक लोन होने का पता लगा है। दस्तावेज पेश करने पर इनकी जांच भी की जाएगी।

बदले की भावना से की शिकायत

शर्मा का कहना है कि आरटीआई कार्यकर्ता नंदलाल व्यास को उन्होंने एससी-एसटी एक्ट के मामले में गिरफ्तार किया था। उसने बदले की भावना से झूठा परिवाद पेश करने के अलावा आधा दर्जन मामले झूठे दर्ज कराए। उनके या पत्नी या परिवार के किसी सदस्य के नाम स्टोन क्रेशर व स्कूल नहीं है। भोपालगढ़ में स्कूल श्याम शिक्षण संस्थान के नाम है। जिस पर ७० लाख रुपए का लोन है। तीनों बसें व कार लोन पर है। उनकी व पत्नी के नाम की सारी सम्पत्ति ऑनलाइन दर्ज है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned