स्वर्णिम भारत - आत्म विश्वास ही परीक्षा में सफ लता की कुंजी

-राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सेखाला बावड़ी के प्रिंसिपल डॉ. महेश चंद शर्मा

jay kumar bhati

Updated: 17 Mar 2020, 08:48 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. किसी भी व्यक्ति द्वारा सीखे गए ज्ञान की परख का ही नाम परीक्षा है। आजकल एग्जाम के दिनों में पढ़ाई का माहौल होना अत्यन्त आवश्यक है। जिससे पढ़ते समय विद्यार्थी को किसी भी तरह की परेशानी न हो। बोर्ड परीक्षाओं में विद्यार्थियों पर एक विशेष दबाव रहता है, लेकिन आत्मविश्वास व पूरी लगन और मेहनत से किए जाने वाले सतह अभ्यास से बोर्ड परीक्षाओं में अच्छे अंक पाना कोई मुश्किल कार्य नहीं है।

हर विषय के अध्ययन की कुछ विशेष बातों को ध्यान में रखा जाए तो परीक्षा के समय तनाव मुक्त पढ़ाई हो सकती है। प्रत्येक विद्यार्थी को पढऩे के लिए ऐसी जगह चुननी चाहिए, जहां पर्याप्त रोशनी और हवा की व्यवस्था के साथ ही स्टडी टेबल और उसके पास पलंग होना चाहिए। पढ़ते समय टेेबल के पास ही अपनी स्टडी बुक्स और आवश्यक स्टेशनरी के सामान होने चाहिए। परीक्षा से संबंधित आवश्यक सामग्री भी टेबल पर व्यवस्थित रखने से समय की बचत होती है।

परीक्षा के पूर्व परिभाषाओं और गणितीय सूत्रों का सतत लिखित अभ्यास किए जाने से परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त किए जा सकते हैं। गत सत्रों की परीक्षाओं में पूछे गए प्रश्नों का अभ्यास करके तथा निश्चित समयावधि में घर पर पूरी तैयारी और इमानदारी से मॉक टेस्ट देकर परीक्षा कक्ष में प्रश्न पत्र को देखकर होने वाली घबराहट को भी दूर सकते हंै। इमानदारी से की जाने वाली तैयारी हर परीक्षार्थी को परीक्षा में अच्छे अंक दिलाने के साथ ही उसकी सफ लता के सभी द्वार खोल देती है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned