कम्पनी सचिव ने की डीमैटेरियलाइजेशन एवं कंपनीज एक्ट पर चर्चा

Gajendra Singh Dahiya

Publish: Mar, 17 2019 07:16:22 PM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. भारतीय कंपनी सचिव संस्थान (आइसीएसआइ) के जोधपुर चेप्टर एवं एनएसडीएल के संयुक्त तत्वाधान में रविवार को सेमिनार आयोजित किया गया। सेमिनार में डीमैटेरियलाइजेशन एवं कम्पनीज एक्ट में संशोधन पर चर्चा की हुई। विभिन्न विषयों पर विशेषज्ञों ने अपने विचार रखे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता पूजा चंदानी ने की। मुख्य अतिथि एनआइआरसी के सचिव राजेंद्र सिंह भाटी, विशिष्ट अतिथि रितेश भूतड़ा, केके व्यास और हितेश शाह थे। अध्यक्षीय उद्बोधन में अध्यक्ष पूजा चंदानी ने कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी। आयोजन सचिव केशव राठी ने बताया कि कार्यक्रम दो भाग में आयोजित किया गया। प्रथम भाग में एनएसडीएल के वक्ता निपुल शाह और द्वितीय भाग में दिल्ली के कंपनी सचिव दिवेश गोयल ने व्याख्यान दिया। एनएसडीएल के निपुल शाह ने डीमैटेरियलाइजेशन जो वर्तमान में प्रत्येक लिस्टेड कम्पनी के लिए जरूरी हो गया है, के बारे में बताया। द्वितीय सत्र में दिनेश गोयल ने कंपनी के नए-नए अमेंडमेंट्स मसलन डीपीटी 3 एवं एक्टिव फॉर्म के बारे में जानकारी दी। गोयल ने कहा कि जो कंपनी नई है और एक्टिव मोड में है तो उन्हें आईएनसी-2 फॉर्म भरना पड़ेगा। उन्होंने फॉर्म भरने के प्रोसीजर को बताया। संचालन प्रतीक नाहटा और कीर्ति ने किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned