VIDEO : जानिए क्यूं लूट को अंजाम दे खुद के ही हाथ-पांव बांध बैठा ये नौकर, पुलिस को भी आया चक्कर

Vikas Choudhary | Publish: Feb, 02 2018 11:06:41 AM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

पौन घंटे के अंतराल में व्यवसायी की पत्नी घर लौटी, तो पालतू कुत्ता शांत बैठा था।

जोधपुर . भगत की कोठी विस्तार योजना में फैक्ट्री व्यवसायी के मकान में अकेली वृद्धा का फायदा उठा घरेलू नौकर ने आलमारी से तीन लाख रुपए व तेरह तोला सोने के आभूषण चुरा लिए। फिर लूट की वारदात दिखाने के लिए खुद के हाथ-पांव रस्सी से बांध लिए, लेकिन व्यवसायी को संदेह हो गया। शास्त्रीनगर थाना पुलिस ने वारदात स्वीकारने पर दो दिन तक मामला दबाए रखने के बाद गुरुवार को एफआईआर दर्ज कर आरोपी नौकर को गिरफ्तार किया।

 


थानाधिकारी अमित सिहाग ने बताया कि भगत की कोठी विस्तार योजना निवासी रमाकांत अग्रवाल की सांगरिया में फैक्ट्री है। गत मंगलवार को वो फैक्ट्री थे। शाम पांच बजे पत्नी बाजार गई थी। ९० वर्षीय मां व पालतू कुत्ता ही घर पर था। शाम ५.४५ बजे पत्नी घर लौटी तो घरेलू नौकर सुजित कुमार को फर्श पर गिरा पाया। उसके हाथ व पांव डोरी से बंधे हुए थे। आलमारी में रखे सामान से छेड़छाड़ हो रखी थी। उसमें रखा पर्स गायब था। जिसमें तीन लाख रुपए व १२-१३ तोला सोना गायब था। महिला ने डोरी खोलकर नौकर से पूछा तो उसने बताया कि मकान मालकिन के बाजार जाने के बाद दो जने वहां आए थे। एक युवक ने सुजित कुमार के हाथ पांव बांध दिए थे और दूसरे कमरे में घुसकर आलमारी से रुपए व आभूषण चुरा ले गया।

 

 

पत्नी की सूचना पर फैक्ट्री मालिक घर पहुंचे। मामला संदेहास्पद नजर आया। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। नौकर सुजित को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने वारदात स्वीकार कर ली। चोरी का मामला दर्ज कर बिहार के मुजफ्फरनगर जिले में मीनापुर थानान्तर्गत टेगराह गांव निवासी सुजित कुमार (२१) पुत्र नंदकिशोर को गिरफ्तार किया गया। उससे चोरी का माल भी बरामद कर लिया गया। आरोपी चार साल से घर में नौकरी कर रहा था।

 


पालतू कुत्ते के शांत बैठे होने से संदेह

 

पौन घंटे के अंतराल में व्यवसायी की पत्नी घर लौटी, तो पालतू कुत्ता शांत बैठा था। आलमारी में सामान बिखरा हुआ नहीं था। सिर्फ छेड़छाड़ की गई थी। नौकर के शरीर पर चोट का निशान नहीं था। दो युवक वहां आकर नौकर को डोरी से बांधकर लूटपाट करते तो कुत्ता जरूर भोंकता और आलमारी में सामान बिखरा हुआ होता। नौकर के शरीर पर मारपीट के निशान भी होते, लेकिन एेसा बिल्कुल न होने पर नौकर संदेह के दायरे में आ गया था।


दो दिन मामला दबाए रही पुलिस, तीसरे दिन दर्ज

 

गत मंगलवार को वारदात के बाद व्यवसायी ने पुलिस को सूचना दे दी थी। पुलिस मौके पर पहुंची। कुत्ते की मौजूदगी की वजह से प्रथमदृष्टया वारदात पुलिस के गले नहीं उतरी। नौकर से पूछताछ की गई तो सबकुछ सामने आ गया। तब तीसरे दिन गुरुवार रात पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया। पुलिस का कहना है कि वारदात के दिन उन्हें सिर्फ सूचना दी गई थी। लिखित शिकायत तीसरे दिन मिली।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned