सोलंकियातला सरपंच के आत्महत्या मामले में गांव में पसरा सन्नाटा, नहीं खुले बाजार

सोलंकियातला सरपंच के आत्महत्या मामले में गांव में पसरा सन्नाटा, नहीं खुले बाजार

Harshwardhan Singh Bhati | Publish: Jul, 26 2019 01:55:20 PM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

सोलंकियातला सरपंच गोपाल सिंह राठौड़ के आत्महत्या प्रकरण को लेकर यहां गमगीन माहौल रहा। वहीं दूसरी ओर दर्ज इस मामले के आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर लोगों में गुस्सा भी साफ दिखा। शोक व गमगीन माहौल के बीच लगातार दूसरे दिन गांव गलियों में सन्नाटा पसरा रहा।

वीडियो : कंवराज सिंह/सेतरावा/जोधपुर. सोलंकियातला सरपंच गोपाल सिंह राठौड़ के आत्महत्या प्रकरण को लेकर यहां गमगीन माहौल रहा। वहीं दूसरी ओर दर्ज इस मामले के आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर लोगों में गुस्सा भी साफ दिखा। शोक व गमगीन माहौल के बीच लगातार दूसरे दिन गांव गलियों में सन्नाटा पसरा रहा। हर कोई इस घटना से स्तब्ध था। गांव के काफी लोग शेरगढ़ जा चुके थे। जहां सरपंच गोपाल सिंह राठौड़ का शव शेरगढ़ मोर्चरी में था। परिवार की ओर से दर्ज मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से वहां मामला गरमाया हुआ था। वहीं मामले की जानकारी के लिए क्षेत्र वासी दिनभर जानकारी जुटाने में लगे रहे।

आईटी भवन को किया सील
परिवार की ओर से दर्ज मामले में ग्राम पंचायत के कामकाज में दखलनदाजी व घोटाले का जिक्र होने तथा सरपंच के सुसाइड नोट में भी इसका उल्लेख होने पर शेरगढ़ विकास अधिकारी ने सोलंकियातला गांव के राजीव गांधी सेवा केंद्र को सील करवा दिया।

सोलंकियातला गांव सरपंच आत्महत्या मामला : दोनों व्यवस्थापक हिरासत में, गिरफ्तारी के आश्वासन पर उठाया शव

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए विकास अधिकारी के आदेशानुसार गांव सोलंकियातला श्री राजीव गांधी गांधी सेवा केंद्र को शेरगढ़ थाना भवानी सिंह द्वारा सील किया गया। इस कायॉलय के सील होने की सूचना का ताला लटका हुआ मिला।

crime news of jodhpur

लगाए पुलिस विरोधी नारे
परिजन ग्रामीण कल सुबह से ही थाने के आगे जमा हो गए और आरोपियों को गिरफ्तार करने 50 लाख रुपए का मुआवजा देने और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग करने लगे।

सरपंच आत्महत्या मामला- पूर्व विधायक राठौड़ के नेतृत्व में थाने के बाहर धरना-प्रदर्शन, पांच दिन में गिरफ्तारी के आश्वासन पर उठाया शव

सवेरे पूर्व विधायक बाबूसिंह राठौड़ के नेतृत्व में भीड़ ने पुलिस विरोधी नारे लगाए। अपरान्ह में भीड़ में मेघा हाईवे पहुंच गई थी। वाहनों का आवागमन रोकने के लिए लोग पत्थर डालने लगे थे लेकिन पुलिस ने समझाइश कर रोक लिया था।

crime news of jodhpur

यह था मामला
गौरतलब है कि बुधवार सवेरे सोलंकियातला सरपंच गोपाल सिंह राठौड़ ने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी थी। सरपंच पिछले कुछ दिनों से मानसिक तनाव में बताये जा रहे थे। उनका लिखा 34 पेज का सुसाइड नोट भी मिला था। इसके बाद पुलिस द्वारा मृतक का शव कब्जे में लिकर शेरगढ़ मोर्चरी में रखवा गया था।

सोलंकियातला सरपंच की आत्महत्या पर फूटा रोष, पूर्व विधायक राठौड़ व प्रधान सहित ग्रामीण जता रहे विरोध

वहीं मृतक के परिजनों की ओर से दर्ज रिपोर्ट व सुसाइड नोट के आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने तक सरपंच का शव नहीं उठाने पर परिजन अड़ गए थे। कल दिनभर शेरगढ़ में माहौल गर्माया रहा। गुरुवार शाम को शेरगढ़ विधायक बाबू सिंह राठौड़ व प्रतिनिधी मंडल की ग्रामीण एसपी से हुई वार्ता सफल रही। इसके बाद ग्रामीण माने। शुक्रवार सवेरे शेरगढ मोर्चरी से सरपंच का शव सोलंकियातला उनके आवास लाया गया।

crime news of jodhpur

भ्रष्टाचार से परेशान सोलंकिया तला गांव के सरपंच ने की आत्महत्या, जेब से मिला 32 पेज का सुसाइड नोट

इनका कहना है
सरपंच बीमार रहने के कारण पंचायत समिति कार्यालय में कभी-कभार ही आते थे। उन्होंने कभी इस बारे में उनसे शिकायत नहीं की अगर वह इस बारे में बताते हुए तो जांच कर दोषी कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की की जाती। मंगलवार की रात गुलाबसिंह ने फोन पर सरपंच की परेशानी के बारे में बताया था। मैंने बुधवार को सुबह मिल कर बात करने की कहीं लेकिन यह सुबह ही अनहोनी हो गई।
- भुवनेश्वरसिंह चौहान, विकास अधिकारी, शेरगढ़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned