मुख्यमंत्री का पुत्र बन शोरूम पर किया फोन, उठाई ५.७५ लाख की कार

- बैंक में लगाने पर चेक अनादरित
- पाली के शातिर ठग के खिलाफ ४४वां मामला दर्ज

By: Vikas Choudhary

Published: 05 Sep 2019, 12:30 AM IST

जोधपुर.
पाली के शातिर ठग ने इस बार मुख्यमंत्री के पुत्र वैभव गहलोत बनकर बासनी एमआइए औद्योगिक क्षेत्र में कार के शोरूम में फोन किया और दोस्त को कार दिलाने भेजा। ठग ५.७५ लाख रुपए का चेक देकर कार ले गया। चेक बैंक में लगाने पर अपर्याप्त राशि होने से अनादरित हो गया। शोरूम की तरफ से बासनी थाने में ठगी का मामला दर्ज कराया गया। पुलिस ठग को संभवत: गुरुवार को जेल से प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार करेगी।

उप निरीक्षक जेठाराम के अनुसार एमआइए में ओडी मोटर्स के मैनेजर राजेन्द्र चतुर्वेदी ने ५.७५ रुपए की धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। यह वारदात भी पाली में रजत नगर निवासी सुरेशकुमार पुत्र भंवरलाल घांची ने की जो शास्त्रीनगर थाने में रिमाण्ड पर है। पूछताछ करने पर उसने वारदात करना स्वीकार किया है। शास्त्रीनगर थाना पुलिस ने सुरेश को बुधवार को न्यायिक अभिरक्षा में भिजवाया, जहां से अब बासनी थाना पुलिस उसे प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार करेगी।
५.७५ लाख का चेक अनादरित

ठग ने गत २४ अगस्त को कार शोरूम में फोन कर कहा कि वह मुख्यमंत्री का पुत्र वैभव गहलोत बोल रहा है। उसका एक आदमी आ रहा है और उसे बढि़या कार दे देना। कुछ देर बाद ठग ने शोरूम में फिर फोन कर बॉस के नम्बर मांगे। मैनेजर ने चीफ जनरल मैनेजर के मोबाइल नम्बर दे दिए। उसी दिन वह शोरूम पहुंचा और मैनेजर से कहा कि उसे मुख्यमंत्री के पुत्र ने भेजा है। शोरूम प्रबंधन ने उसकी आव-भगत की और कारें दिखाई। उसने एक कार पसंद की और ५.७५ लाख रुपए में सौदा तय हुआ। बदले में उसने ३० अगस्त का चेक दिया।बगैर गेट पास व रसीद कटाए वह कार लेकर निकल गया। फिर उसने शोरूम में फोन कर चेक ३१ अगस्त को बैंक लगाने का आग्रह किया। शोरूम की तरफ से ३१ अगस्त को चेक बैंक में लगाया गया तो खाते से राशि न होने से अनादरित हो गया। तब उन्हें ठगी का पता लगा।
एक अन्य ठगी पर पकड़ में आया तो पहुंचे थाने

आरोपी सुरेश ने १९ अगस्त को न्यू पावर हाउस रोड स्थित कार शोरूम में फोन कर खुद को पाली का पूर्व विधायक भीमराज भाटी बताकर कहा था कि पुत्र को कार लेने भेज रहा हूं। बदले में वह उन्हें चेक देगा। इसके बाद वह कार शोरूम पहुंचा था और कार पसंद कर ले गया था। बदले में पांच लाख रुपए का चेक दिया था। जो खाते में राशि न होने से अनादरित हो गया। शोरूम संचालक किशनसिंह देवड़ा ने शास्त्रीनगर थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने एक सितम्बर को सुरेश कुमार को पाली से गिरफ्तार किया था। राजस्थान पत्रिका में इस बारे में खबर प्रकाशित होने पर ओडी मोटर्स शोरूम के मैनेजर ने ठग को पहचान लिया और फिर एफआइआर दर्ज कराई।
कई नेताओं, विधायक व डीएसपी के नाम पर कर चुका ठगी

शातिर ठग सुरेश के खिलाफ धोखाधड़ी के ४३ मामले दर्ज हैं। बासनी थाने में मामला ४४वां दर्ज हुआ है। उसने अब तक कई नेताओं, विधायक, पूर्व विधायक और नागौर में पुलिस उपाधीक्षक बनकर आमजन को लाखों रुपए की चपत लगाई है।

Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned