पिता की मृत्यु पर पुत्रों ने अस्पताल में की तोड़-फोड़

- मण्डोर रोड स्थित निजी अस्पताल का मामला
- एम्बुलेंस के कांच फोड़े, चिकित्सक से हाथा-पाई

जोधपुर.
हार्ट अटैक के बाद रविवार रात मण्डोर रोड स्थित निजी अस्पताल लाते ही मृत घोषित करने से मृतक के तीन होमगार्ड पुत्र आक्रोशित हो गए और अस्पताल और बाहर खड़ी एम्बुलेंस में तोड़-फोड़ के साथ चिकित्सक और नर्सिंग कर्मचारियों से हाथापाई कर दी। मण्डोर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर तीनों पुत्रों को हिरासत में ले लिया।

थानाधिकारी सीताराम खोजा के अनुसार निंबा नींबड़ी निवासी छगनलाल भील (५५) को रात को हार्ट अटैक के बाद पुत्र अशोक, विष्णु व गोविंद उन्हें मण्डोर के पास स्थित मारवाड़ अस्पताल ले गए। ईसीजी करते ही सांसें न चलने का पता लगा। इसके बावजूद चिकित्सक व नर्सिंग कर्मचारियों ने बचाने के प्रयास किए, लेकिन उनकी मृत्यु हो गई।
इससे आक्रोशित पुत्रों ने मोबाइल फेंककर कांच का दरवाजा तोड़ डाला। रिसेप्शन व दवाइयों की दुकान में भी तोड़-फोड़ की और अस्पताल परिसर में खड़ी एम्बुलेंस के सभी कांच फोड़ डाले। डॉ. हरीश व नर्सिंग कर्मचारियों ने रोकने का प्रयास किया तो उनके साथ भी हाथा-पाई की। पुलिस मौके पर पहुंची और तीनों भाइयों को पकडक़र थाने ले आई। अस्पताल संचालक की तरफ से मारपीट व तोड़-फोड़ का मामला दर्ज किया गया। शव को देर रात महात्मा गांधी अस्पताल की मोर्चरी ले जाए जाने की कार्रवाई चल रही थी। पुलिस का कहना है कि मृतक के तीनों पुत्र होमगार्ड हैं।

Vikas Choudhary
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned