scriptSpine surgery using computer neuro monitoring for the first time at MG | एमजीएच में पहली बार कंप्यूटर न्यूरो मॉनिटरिंग के उपयोग से रीढ़ हड्डी का ऑपरेशन | Patrika News

एमजीएच में पहली बार कंप्यूटर न्यूरो मॉनिटरिंग के उपयोग से रीढ़ हड्डी का ऑपरेशन


एनकायलोसिंग स्पॉन्डलाइटिस के मरीज का न्यूरो मॉनिटरिंग से हुआ ऑपरेशन

जोधपुर

Published: December 22, 2021 11:09:32 pm


जोधपुर. डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज संबद्ध महात्मा गांधी अस्पताल में कंप्यूटर न्यूरो मॉनिटरिंग के लिए उपयोग से दुर्घटना में घायल वृद्ध की रीढ़ की हड्डी का ऑपरेशन किया गया। इस नवीनतम तकनीक का इस्तेमाल प्रथम बार ऑर्थोपेडिक विभाग ने किया है। दरअसल, महामंदिर निवासी गौरीशंकर गत 17 नवम्बर को अपनी पत्नी के साथ स्कूटी पर बैठकर जा रहे थे। पीछे से किसी ने तेजी से कार ने टक्कर मारी, जिसमें दोनों दंपति घायल हो गए। पति के सिर में चोट और दाहिना फेफ ड़ा क्षतिग्रस्त हो गया। फेफ ड़ों में खून भर गया और रीढ़ की हड्डी में चोट आ गई। कार्डियो थोरेसिक सर्जन डॉ.सुभाष बलारा के नेतृत्व में मरीज को एमडीएम आईसीयू में रखकर उनके फेफ ड़ों से 2 लीटर से अधिक जमा हुआ खून निकाला गया, फि र फेफ ड़ों के स्थिति सुधरने पर अस्थि रोग टीम महात्मा गांधी अस्पताल ने इनका ऑपरेशन किया। बाद में मरीज गांधी रैफर हुआ। गौरीशंकर के रीढ़ की हड्डी में पहले से ही इंकलोजिंग स्पॉन्डलाइटिस नामक बीमारी थी, इस बीमारी में समस्त रीढ़ की हड्डी जकड़ कर एक बांस की तरह बन जाती है। जिसे आम भाषा में बम्बू स्पाइन भी कहा जाता है। इस तरह की हड्डी में चोट लगना बहुत ही ज्यादा खतरनाक हो होता है। क्योंकि हड्डी दो टुकड़ों में टूट कर अलग हो जाती है, इसे चिकित्सकीय भाषा में कैरट स्टिक फ्रेक्चर यानी के गाजर की तरह दो टुकड़ों में टूटना कहा जाता है। चोट में नस के क्षतिग्रस्त होने का भी पूरा खतरा रहता है। टेबल पर लेटाने व सीधा करने में भी मरीज के नस पर दबाव आने का खतरा रहता है।
एमजीएच में पहली बार कंप्यूटर न्यूरो मॉनिटरिंग के उपयोग से रीढ़ हड्डी का ऑपरेशन
एमजीएच में पहली बार कंप्यूटर न्यूरो मॉनिटरिंग के उपयोग से रीढ़ हड्डी का ऑपरेशन
डॉ. टाक ने भाप लिए खतरे
इन सब खतरो को पहले से भांपते हुए रीढ़ की हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. महेंद्र सिंह टाक ने मरीज के परिजनों को कंप्यूटर न्यूरो मॉनिटरिंग के उपयोग करते हुए ऑपरेशन करने की सलाह दी। ऑर्थोपेडिक्स विभागाध्यक्ष डॉ महेश भाटी के मार्गदर्शन में स्पाइन सर्जन डॉ. टाक की टीम ने यह जटिल ऑपरेशन कर मरीज को एक नया जीवन दिया। मरीज स्वस्थ होकर अपने पैरो पर चलकर घर जा रहा है । इस टीम में डॉ. नंदलाल, डॉ. जयेश, डॉ. जियालाल, डॉ.़ पूनमचंद शामिल थे। प्रिंसिपल डॉ. एसएस राठौड़ व एमजीएच अधीक्षक डॉ. राजश्री बेहरा ने समूची टीम को बधाई दीं।
एनेस्थेसिया विभाग की वरिष्ठ आचार्या डॉ. सरिता जनवेजा ने बताया कि इस तरह के ऑपरेशन में मरीज को बेहोश करना कई जटिलताओं भरा होता है। क्योंकि इंकलोजिंग स्पॉन्डलाइटिस के कारण मरीज के गर्दन की मूवमेंट भी न के बराबर हो जाती है। इसमे मरीज को बेहोश करते वक्त काफ ी दिक्कत आती है। वरिष्ठ आचार्य फ तेह सिंह भाटी, सहायक आचार्य डॉ. गायत्री तंवर, डॉ. सोनालिका, डॉ. ज्योति, डॉ. इंदु, डॉ. आकांक्षा, ओटी इंचार्ज इकबाल कायमखानी, अजीत गुरनानी,अर्जुन सिंह,नीतू सिंह,अनिता सोलंकी, ज्ञान व नदीम का भी सहयोग रहा।
जानिए क्या हैं न्यूरो मॉनिटरिंग
अस्थि रोग विभागाध्यक्ष डॉ. महेश भाटी ने बताया कि न्यूरो मॉनिटरिंग एक विशेष तरह की तकनीक है। जिसमें ऑपरेशन के दौरान मरीज के हर एक नस पर इलेक्ट्रोड लगाकर इस नस के अंदर प्रवाहित होने वाले वोल्टेज की गणना की जाती है। अस्पताल में पहली बार इस तकनीक का उपयोग करते हुए इंकलोजिंग स्पॉन्डलाइटिस में फ्रेक्चर का ऑपरेशन किया गया। तकनीक के इस्तेमाल से रीढ़ की हड्डी में ऑपरेशन से होने वाले लकवे के खतरे को काफ ी हद तक कम किया जा सकता हैं। यह मशीन ऑपरेशन के दौरान नसों को मॉनिटर करने का काम करती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: देश आज मना रहा 73वें गणतंत्र दिवस का जश्न, राजपथ पर दिखेगी देश की सैन्य ताकतRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की किलेबंदी, जमीन से आसमान तक करीब 50 हजार सुरक्षाबल मुस्तैदRepulic Day 2022: जानिए क्या है इस बार गणतंत्र दिवस की थीमस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयRepublic Day: छत्तीसगढ़ के दो सैन्य ग्राम, जहां कदम रखते ही सुनाई देती है शहीदों और वीर सैनिकों की वीर गाथा, ऐसा देश है मेरा...UP Election 2022: सपा ने 39 प्रत्याशियों की जारी की सूची, 2002 के बाद पहली बार राजा भैया के खिलाफ उतारा प्रत्याशीpetrol diesel price today: पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.