छात्रसंघ चुनाव - लिगंदोह कमेटी के नियमों की गर्ल्स कर रही पालना

छात्रसंघ चुनाव - लिगंदोह कमेटी के नियमों की गर्ल्स कर रही पालना

jay kumar bhati | Publish: Aug, 08 2019 08:27:14 PM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

छात्रसंघ चुनाव में छात्राओं ने की पहल

लिगंदोह कमेटी के नियमों की कर रही पालना


जेके भाटी/जोधपुर. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव की अधिसूचना जारी हो चुकी हैं। वहीं कैम्पस व शहर छात्रों के पोस्टर से अटे पड़े हैं। छात्रों ने शहर को जगह-जगह पोस्टर लगाकर बदरंग कर रखा हैं। वहीं केएन कॉलेज की छात्राएं हस्तलिखित पोस्टर बना कर लिंगदोह कमेटी के नियमों की पालना करने की पहल कर रही हैं। वे कैम्पस परिसर में एक साथ बैठकर अपने-अपने पोस्टर बना रही हैं।

 

नियमों की करेंगे पालना
लिंगदोह कमेटी के नियमों की पालना करते हुए चुनाव में भाग लेगें। सरकारी जगहों पर नियमों के तहत किसी प्रकार की चुनाव सामग्री का उपयोग नहीं करेगें। साथ ही कैम्पस को साफ रखने की कोशिश करेंगे।
मीनल राठौड़, छात्रा प्रतिनिधी

पोस्टर की बजाय छात्राओं की मदद करें
शहर में पोस्टर लगाने से प्रत्याशी को कोई फायदा नहीं हो रहा बल्कि बदरंग किया जा रहा हैं। पोस्टर की बजाय कैम्पस में रहकर छात्राओं की मदद की जाएं। नए प्रवेश लेने वाली छात्राओं की मदद करने से वोटबैंक मजबूत होगा। क्योंकि वोट देने वो ही गल्र्स कॉलेज आएगी जो नियमित विद्यार्थी हैं। उनकी मदद करने से वे वैसे ही वोट दे देगी। ना कि शहर भर में पोस्टर लगाने से वोट मिलेगें।
धनुष चौधरी, छात्रा प्रतिनिधी

 

परमिट क्षेत्र में लगाएं पोस्टर
कैम्पस के अन्दर व बाहर नगर निगम की ओर से परमिट एेरिये में ही पोस्टर लगाने चाहिए। जिससे कैम्पस व शहर गंदा नहीं हो। साथ ही उससे एक-दूसरे के पोस्टर फाडक़र अपने लगाने की समस्या से भी निजात मिलेगी। क्योंकि बिना परमिट क्षेत्र में पोस्टर लगाने पर दूसरा प्रत्याशी उसे हटाकर अपना पोस्टर लगा देते हैं। जिससे लड़ाई की स्थिति बनी रहती है और छात्राएं वोट देने नहीं आती। जिससे प्रत्याशी को ही नुकसान होता हैं। इससे अच्छा तो यह है कि परमिट जगह पर पोस्टर लगा होगा तो ना तो काई उसे हटाएगा और ना ही लडाई की स्थिति बनेगी।
नेहा राखेचा, छात्रा प्रतिनिधी

 

स्वच्छ भारत मिशन को अपनाए
स्वच्छ भारत मिशन को अपनाते हुए पोस्टर लगाना ही नहीं चाहिए। क्योंकि जब पोस्टर लगाएंगे तो ही उसे फाडने की स्थ्तिि बनेगी। अगर पोस्टर लगा हुआ ही नहीं होगा तो एेसी स्थिति बनेगी भी नहीं। इसलिए स्वच्छ भारत मिशन को अपनाते हुए कहीं पर भी पोस्टर व बेनर ना लगाएं।
दीपिका कंवर, छात्रा प्रतिनिधी

 

 

कैम्पस में परमिट एेरिया में लगाए पोस्टर
कैम्पस में विवि की ओर से पोस्टर लगाने के लिए परमिट एेरिया बनाया हुआ है तो फिर बाहर शहर में लगाने का कोई औचित्य नहीं है। प्रत्याशी को खुद पर भरोसा होना चाहिए कि वो कैम्पस में रहकर छात्राओं की मदद करने से ही वोट प्राप्त कर सकती हैं। वैसे भी चुनाव कैम्पस परिसर में ही होने है, एेसे में बाहर से वोट देने कोई नहीं आने वाला। फिर शहर को बदरंग करके सरकारी सम्पति को नुकसान पहुंचाने से कोई फायदा नहीं होगा। इसलिए जहां विवि की ओर से परमिट एेरिया बनाया हुआ है, वहीं पोस्टर लगाए जाएं।
प्रियंका सिंह नरूका, छात्रा प्रतिनिधी

 

 

ये है लिंगदोह कमेटी की प्रमुख सिफारिशें
१. उम्मीदवार की उपस्थिति न्यूनतम ७५ फीसदी हो। न्यूनतम अंक प्रतिशत भी तय हो तथा वह नियमित विद्यार्थी हो।
२. प्रत्याशी का चुनाव खर्च ५ हजार से ज्यादा नहीं हो।
३. चुनाव के दौरान प्रिंटेड प्रचार सामग्री काम में नहीं ली जाएगी।
४. विवि की ओर से चिह्नित स्थानों पर सिर्फ हस्तलिखित प्रचार सामग्री ही लगाई जा सकेगी।
५. प्रत्याशी का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं हो।
६. परिणाम की घोषणा के दो सप्ताह के भीतर उम्मीदवार को खर्च के ब्योरे की अपनी ऑडिटेड रिपोर्ट विवि प्रशासन को सौंपनी होगी।
७. जाति व समुदाय के आधार पर वोट की अपील नहीं की जाएगी।
८. विवि व कॉलेज के बाहर कोई प्रचार गतिविधि जैसे जुलूस, मीटिंग नहीं किये जा सकेंगे।
९. कैम्पस में पोस्टर-होर्डिंग, वाहनों व ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग प्रतिबंधित होगा।
१०. चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले छात्र व प्रत्याशी को चुनाव से वंचित किया जा सकता है।

 

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned