एसीबी के सवालों पर रोने लगी निलंबित आइएएस

एसीबी के सवालों पर रोने लगी निलंबित आइएएस

M.I. Zahir | Publish: May, 18 2018 06:00:00 AM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

तैंतीस हजार क्विंटल गेहूं गबन का मामला खाना भी नहीं खाया, दूसरे दिन भी खुद को बीमार बताती रही जयपुर की खाद्य शाखा के कनिष्ठ लिपिक व राशन डीलर के

जोधपुर . तैंतीस हजार क्विंटल गेहूं के गबन की आरोपी निलम्बित आइएएस निर्मला मीणा ने दूसरे दिन भी भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को जांच में सहयोग नहीं किया। वह खुद के बीमार होने की दुहाई देकर एसीबी के सवालों से बचने का प्रयास करती रही। सवालों के जवाब नहीं देने पर थोड़ा सख्त रवैया अपनाते ही निर्मला रोने भी लग गई। कोर्ट ने निर्मला को दो दिन के रिमांड पर भेजा है। इस बीच, एसीबी ने जयपुर में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के कनिष्ठ लिपिक व शहर में राशन डीलर एसोसिएशन अध्यक्ष से गुरुवार को पूछताछ की।

दिनभर विशेष विंग में पूछताछ

दो महीने तक फरार रहने के बाद सरेंडर करने वाली तत्कालीन डीएसओ निर्मला से एसीबी के एसपी अजयपाल लाम्बा व जांच अधिकारी ने मुकेश सोनी ने दिनभर विशेष विंग में पूछताछ की। निर्मला बीमार होने का बहाना बना सवालों को टालती रही। उसने घबराहट होने, चक्कर आने व सिर दर्द के कारण दोपहर में खाना भी नहीं खाया। उसका कहना है कि वह गुरुवार का व्रत रखती है। सवालों के जवाब न मिलने पर एसीबी ने सख्ती करने का प्रयास किया तो निर्मला रोने भी लगी। इस दौरान महिला उप निरीक्षक व कांस्टेबल भी मौजूद थे। सुप्रीम कोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सरेंडर करने वाली निर्मला ने बुधवार को भी खुद के बीमार होने का बहाना बनाया था।
गौरतलब है कि मार्च २०१६ में गेहूं के गबन की पुष्टि होने पर एसीबी ने गत वर्ष दो नवम्बर को एफआईआर दर्ज की थी। अब तक आटा मिल संचालक स्वरूप सिंह व निर्मला ही गिरफ्तार हो सके हैं। ठेकेदार सुरेश उपाध्याय व तत्कालीन लिपिक अशोक पालीवाल फरार हैं।

नोट शीट पर आवंटन करने वाला लिपिक संदेह के दायरे में
एसपी अजयपाल लाम्बा ने बताया कि बतौर डीएसओ निर्मला ने मार्च २०१६ में पैंतीस हजार बीपीएल परिवार बढऩे का हवाला देकर तैंतीस हजार क्विंटल गेहूं के अतिरिक्त आवंटन की मांग की थी। जयपुर स्थित खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में एलडीसी शिवप्रकाश शर्मा ने नोटशीट पर गेहूं का आवंटन किया था। उसकी भूमिका सामने आने पर एसीबी ने गुरुवार को शिवप्रकाश को तलब कर दिनभर पूछताछ की। जोधपुर शहर के राशन डीलर एसोसिएशन अध्यक्ष अनिल गहलोत से भी पूछताछ की गई। गबन के दौरान अनिल के पास राशन की बीस दुकानें थी। उसे गेहूं का अतिरिक्त आवंटन किया गया था। दोनों से शुक्रवार को भी पूछताछ की जाएगी।

निर्मला हंसती हुए कोर्ट में पेश
निर्मला एसीबी के समक्ष सरेंडर करने के लिए चुन्नी से चेहरा ढंककर आई थी। जब गुरुवार को जांच अधिकारी सोनी ने कोर्ट में पेश किया तो उसके हाव-भाव बदले हुए थे। सिर नीचा किए मुस्कराहट के साथ वो कोर्ट में पेश हुई। एसीबी ने सात दिन का रिमांड मांगा। हालांकि मजिस्ट्रेट ने उसे दो दिन के रिमाण्ड पर भेजने के आदेश दिए।

बैरक में बीती रात

सरकारी ऑफिस व आवास में एयर कंडीशनर में रहने वाली निर्मला की बुधवार रात पुलिस स्टेशन उदयमंदिर के बैरिक में बीती, जहां पंखा व कूलर लगा हुआ था। सामान्य बिस्तर दिए गए। सुरक्षा के लिए महिला पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे। रातभर उसे नींद नहीं आई। एसीबी ने अभी उसे इसी थाने में रखा है।

 

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned