VIDEO : जोधपुर के इस पैडमैन ने केले से बनाया सैनेटरी नैपकिन, चौंकाने वाली इस तकनीक की विदेशों में बढऩे लगी है मांग

Harshwardhan Singh Bhati | Updated: 06 Mar 2018, 04:30:05 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

इनका सैनेटरी नैपकिन बनाने का तरीका दूसरी कंपनियों से अलग है।

केले का व्यवसाय करने वालों की लाखों आय


सैनेटरी नैपकिन में केले के पेड़ का फाइबर इस्तेमाल होने से केले का व्यवसाय करने वालों की आय बढ़ा दी है। साथी कंपनी ने केले का पेड़ लगाकर व्यवसाय करने वाले लोगों को इस साल लगभग 32 लाख रुपए की आय करवाई है, ताकि उन्हें केले के पेड़ों का अधिक से अधिक फाइबर मिल सके और केले का पेड़ लगाने वालों को भी इसका फायदा मिले।

 

देश-विदेश में मिल चुका सम्मान

 

साथी कंपनी के पैडमैन बोथरा और उनकी टीम को देश-विदेश में कई सम्मान मिल चुके हैं। हलो टूमोरो समिट में ग्लोबल विनर, यूनाइटेड नेशन इंडस्ट्रीयल ऑर्गनाइजेशन की ओर से अमरीका के लॉस एंजिलिस में क्लीन टैग ओपन का इंटरनेशनल अवार्ड दिसंबर 2017 में और इसी साल फरवरी में बॉम्बे में नेशनल अवार्ड मिला। इसी तरह फरवरी में ही कार्टियर वूमन्स अवार्ड भी मिला।

Prev Page 2 of 2 Next

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned