scriptटिकट के गणित से आखिर तक उलझे रहे समीकरण, कम मतदान से मुकाबला रोचक | Patrika News
जोधपुर

टिकट के गणित से आखिर तक उलझे रहे समीकरण, कम मतदान से मुकाबला रोचक

लोकसभा चुनाव-2024 मतगणना कल, दोपहर तक साफ हो जाएगी स्थिति

जोधपुरJun 03, 2024 / 09:38 am

जय कुमार भाटी

जोधपुर. देश को नई सरकार और नए सांसद मिलने में अब सिर्फ एक दिन का समय बचा है। एग्जिट पोल के दावों ने नई ऊर्जा भर दी है। इस बार मारवाड़ में भी काफी अप्रत्याशित परिणाम आने के संकेत दिए गए हैं। पांच सीटें जो पिछली बार भाजपा के खाते में थी, इस बार पूरी तरह से क्लीन स्वीप होती नजर नहीं आ रही। क्या था इस बार का टिकट वितरण का जातिगत समीकरण और किस प्रकार से मतदान प्रतिशत ने संकेत दिए थे, इस पर विशेष रिपोर्ट…

जोधपुर में दो राजपूत प्रत्याशियों में टक्कर

जोधपुर लोकसभा क्षेत्र में पिछली बार से जातिगत समीकरण इस बार अलग हैं। दोनों ही राजपूत समाज के प्रत्याशियों में टक्कर है। भाजपा से गजेन्द्रङ्क्षसह शेखवात लगातार तीसरी बार मैदान में हैं, तो कांग्रेस ने करणङ्क्षसह उचियारड़ा को मैदान में उतारकर मामले को काफी रोचक बना दिया था। जीत किसी भी हो, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि जीत का अंतर काफी कम रह सकता है। जातिगत समीकरण भी दोनों पार्टियों के बीच फंसे हैं।
मतदान प्रतिशत
2019 68.41
2024 64.27
अंतर 4.14 प्रतिशत घटा

बाड़मेर-जैसलमेर में त्रिकोणीय भिड़ंत

पिछली बार टक्कर भाजपा के कैलाश चौधरी और कांग्रेस के मानवेन्द्र ङ्क्षसह में थी। जातिगत समीकरण राजपूत और जाट का था। कैलाश चौधरी जीते थे। लेकिन इस बार भाजपा ने कैलाश चौधरी को रिपीट किया व कांग्रेस ने उम्मेदाराम बेनीवाल को टिकट देकर जातिगत समीकरण बदल दिए। इसी कारण निर्दलीय रविन्द्र ङ्क्षसह भाटी ने राजपूत समाज का होने के नाते बड़ी सेंध लगाई है। इसीलिए नतीजे अप्रत्याशित हो सकते हैं।
मतदान प्रतिशत
2019 73.30
2024 74.25
अंतर – 0.95 प्रतिशत बढ़ा

नागौर में दो दिग्गजों की साख दांव पर

नागौर में इस बार रालोपा के हनुमान बेनीवाल व भाजपा की ज्योति मिर्धा के बीच कांटे की टक्कर है। पिछली बार भी यही प्रत्याशी आमने सामने थे, लेकिन पार्टियां दूसरी थी। ज्योति मिर्धा ने पिछली बार कांग्रेस से ताल ठोकी थी, लेकिन हनुमान को हरा नहीं पाई थी। इस बार वे भाजपा के खेमे से चुनाव लड़ रही हैं। हनुमान बेनीवाल विधायक का चुनाव जीतने के बाद सांसद बनने के लिए मैदान में हैं।
मतदान प्रतिशत
2019 62.15
2024 57.23
अंतर 4.92 प्रतिशत घटा

जालोर-सिरोही में दोनों नए प्रत्याशी

पिछली बार टक्कर भाजपा के देवजी पटेल और कांग्रेस के रतन देवासी में थी। पटेल व देवासी समाज दो बड़ा मतदाता वर्ग है। इसमें भाजपा के देवजी जीते थे। लेकिन इस बार दोनों ही पार्टियों ने टिकट बदल दिए हैं। कांग्रेस ने जहां पूर्व सीएम अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत को मैदान में उतारा तो भाजपा ने नए चेहरे लुम्बाराम पर दांव खेला है। इस बार दोनों ही पार्टियों के कोर वोटर्स के ध्रुवीकरण होने के दावे किए जा रहे हैं।
मतदान प्रतिशत
2019 65.74
2024 62.56
अंतर 3.18 प्रतिशत घटा

पाली में कांग्रेस ने चेहरा बदला

पाली लोकसभा चुनाव में भाजपा ने लगातार तीसरी बार चेहरा रिपीट कर पीपी चौधरी को मैदान में उतरा। पिछली बार मुकाबला पीपी चौधरी व बद्रीराम जाखड़ में था। इस बार कांग्रेस ने नए चेहरे संगीता बेनीवाल पर दांव खेला। जातिगत समीकरण तो नहीं बदले लेकिन एंटीइनकमबेंसी का डर था। दूसरी ओर मतदान भी पांच प्रतिशत गिरा, जो परिणाम को काफी प्रभावित करेगा।
मतदान प्रतिशत
2019 – 62.98
2024 – 57.36
अंतर – 5.62 प्रतिशत घटा

Hindi News/ Jodhpur / टिकट के गणित से आखिर तक उलझे रहे समीकरण, कम मतदान से मुकाबला रोचक

ट्रेंडिंग वीडियो