ग़वर पूजन उत्सव में तीजणियों का उल्लास चरम पर

 

घर-घर घुड़लो घुमेला जी घुमेला गीतों की गूंज

By: Nandkishor Sharma

Published: 08 Apr 2021, 11:17 PM IST


जोधपुर. मारवाड़ के प्रमुख लोकपर्व गणगौर पूजन के अंतिम चरण में तीजणियों का उल्लास चरम पर है। गवर माता का पूजन करने वाली तीजणियों ने घुड़ले को शीश पर रखकर सगे-संबंधियों के घर पहुंची और मां गौरी से जुड़े मंगल गीत प्रस्तुत किए। शाम को गवर पूजन स्थल पर छिद्रयुक्त घुड़ले में दीप का प्रज्ज्वलित करने के बाद तीजणियां गवर पूजन स्थल के आसपास परिचितों व रिश्तेदारों के घरों के बाहर पहुंची और मंगलगीत प्रस्तुत कर सुख समृद्धि की मंगल कामना की। तीजणियों की मान मनुहार करने के बाद मिष्ठान व नेग देकर सत्कृत किया गया। महामंदिर तीसरी पोल के बाहर रूप नगर क्षेत्र की तीजणियों ने घर-घर घुड़ले को ले जाकर मंगलगीत प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में सुमन झंवर, वैशाली माहेश्वरी व निकिता के संयोजन में तीजणियों ने पारम्परिक गवर गीत प्रस्तुत किए। पाल रोड अमृत नगर क्षेत्र में भी तीजणियां घुड़ला
व गवर ईसर की प्रतिमाओं के साथ परिचितों के घर पहुंची और गवर गीत प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में गीता माछर, कंचन जाजू, रानू माछर, कमलेश गोयल, ख्याति, दर्शन कंवर, दिप्ती अग्रवाल, मंजू अग्रवाल, मीना लद्दड़, मीनाक्षी मोहता आदि तीजणियों ने गवर ईसर का आकर्षक शृंगार किया व गीत प्रस्तुत किए। आडा बाजार कुम्हारियां कुआं क्षेत्र के जाजूजी की
पोल में संतोष गुडग़ीला व सुशीला के संयोजन में पूर्वी, रेखा, संतोष तावणियां आदि ने गवर माता के पारम्परिक गीत प्रस्तुत किए। नवविवाहित तीजणियों में गवर पूजन के प्रति खासा उत्साह है।

Nandkishor Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned