खेत में बंदूक से खेल रहा था युवक, और हो गया हादसा

बंदूक की टोपी खोली तो छर्रा जांघ से होकर कमर में घुसा, ऑपरेशन कर चिकित्सकों ने बाहर निकाला

एमजीएच के चिकित्सकों ने किया सफल ऑपरेशन

 

जोधपुर. कभी-कभी अनभिज्ञता भारी पड़ जाती है, ऐसा ही हुआ पीपाड़ शहर निवासी युवक के साथ। सोने-चांदी के व्यवसाय से जुड़े एक युवक ने किसी ग्राहक के खेत में पलंग पर पड़ी बंदूक को नासमझी में नीचे रखते हुए उसकी टोपी हटा ली। इस बीच छर्रा छूटकर उसकी जांघ लांघते हुए कमर में जा घुसा। जिस पर एमजीएच में ऑपरेशन कर सर्जरी विभाग के चिकित्सकों ने मरीज को राहत दी।
युवक को जोधपुर लाने के दौरान किसी निजी अस्पताल ने कानूनी पेचिदगियों के चलते उपचार नहीं किया। परिजन काफी देर तक निजी अस्पतालों में भटकते रहे। मरीज को शुक्रवार रात महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसको आवश्यक जांच व सीटी स्कैन के बाद सर्जरी विभाग के सहायक आचार्य डॉ. दिनेश दत्त शर्मा व उनकी टीम ने ऑपरेशन कर तीन छर्रे बाहर निकाले। मरीज की अस्पताल में एमएलसी कराई गई। छर्रे भी एमएलसी विभाग ने अपने पास जमा किए।

यह भी पढ़े : समय पर निकाल लिया पेसमेकर, वरना श्मशान में हो जाता विस्फोट

रीढ़ की हड्डी व आंतों को पहुंच सकता था नुकसान
सर्जन डॉ. दिनेश दत्त शर्मा के मुताबिक मरीज के छर्रे कमर की तरफ घुसे थे। गनीमत रही कि रीढ़ की हड्डी और आंतों तक नहीं पहुंचे, वरना लकवा होने व आंतें फट सकती थी।

Avinash Kewaliya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned