scriptThis month there will be more than 500 marriages with 50 maximum membe | इस महीने 50 अधिकतम सदस्यों के साथ होगी 500 से ज्यादा शादियां | Patrika News

इस महीने 50 अधिकतम सदस्यों के साथ होगी 500 से ज्यादा शादियां

 

कम नहीं हो रही घरातियों-बारातियों की मुश्किलें

जोधपुर

Updated: January 16, 2022 11:03:06 am

जोधपुर. मकर संक्रांति को मळमास खत्म होते ही मांगलिक कार्य शुरू हो चुके हैं। अगले 15 दिन में करीब 500 से ज्यादा शादियां प्रस्तावित हंै। इनमें अधिकतम सीमा 50 सदस्य ही है। इसका सीधे तौर पर मार्केट पर असर पड़ा है। इसके सकारात्मक व नकारात्मक दो पहलू भी देखे जा सकते हैं।
इस महीने 50 अधिकतम सदस्यों के साथ होगी 500 से ज्यादा शादियां
इस महीने 50 अधिकतम सदस्यों के साथ होगी 500 से ज्यादा शादियां
1. सकारात्मक पहलू : एक शादी में बच गए पांच लाख तक की राशि : सीमित संख्या में शादी होने के कारण कई खर्च कम हुए हैं। इससे मध्यमवर्गीय परिवार का बोझ काफी कम हुआ है।
- 1 हजार व्यक्ति के खाने का 3 से 4 लाख का खर्च बचेगा।

- आयोजन प्रबंधन यानि टेंक, लाइट, डेकोरेशन का भी करीब 1 से 2 लाख की बचत होगी।


2. नकारात्मक पहलू : वेडिंग इंडस्ट्री बुरी तरह से प्रभावित होगी। कई तरह का निवेश जो कि इस उद्योग से जुड़े लोगों ने किया है, वह डूबने के कगार पर है। रोजगार भी काफी प्रभावित होगा।
- 1 हजार टैंट व्यवसासियों को 15 से 20 करोड़ का नुकसान होगा।
- साउंड-लाइट व वेडिंग डेस्टिनेशन वालों को भी 25 से 30 करोड़ का नुकसान होगा।

- ट्रांसपोर्ट, डेकोरेशन व अन्य छोटी इंडस्ट्री वालों को नुकसान होगा।
गांव की सरहद का आसरा
शहरी क्षेत्र के रहने वाले कई लोगों ने नगर निगम सीमा से बाहर यानि ग्रामीण क्षेत्र की सरहद में स्थित रिसोर्ट में अपनी बुकिंग करवा ली है। वहां अनुमत लोगों की संख्या 50 की बजाय 100 है, ऐसे में वे कुछ राहत की उम्मीद कर रहे हैं।
कुछ ऐसी निराशा

कोविड की दो लहरों में बुरी तरह प्रभावित हुए टेंट व वेडिंग इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को 2022 में राहत मिलने की उम्मीद थी। जोधपुर टेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेन्द्र फोफलिया व महासचिव सुनिल भाटी ने बताया पंजीकृत व अपंजीकृत टेंट व्यवसायी हैं। विवाह आयोजनों से जुड़े कंदोई, बैण्डवादक, मैरिज प्लेस संचालक, घोड़ी वाले, डेकोरेटेर्स, पुष्प विक्रेता, लाइट डेकोरेटर्स से जुड़े हजारों परिवार है जिनका रोजगार पूरी तरह खत्म हो जाएगा।
डिजिटल न्यौते तो प्रथम पूज्य तक पहुंचे ही नहीं
जोधपुर में विवाह का प्रथम निमंत्रण रातानाडा गणेश मंदिर में दिए जाने की परम्परा लंबे अर्से से चली आ रही है। पूर्व में इन्हीं दिनों में निमंत्रण पत्रों की संख्या एक हजार से अधिक रहती थी, लेकिन वर्तमान में यह संख्या घटकर 200 से भी कम हो चुकी है। मंदिर पुजारी प्रदीप शर्मा ने बताया कि लोग डिजिटल निमंत्रण कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं।
अबूझ सावा भी हो सकता है फीका

15 जनवरी से ही सावों का सीजन शुरू हो चुका है। इसी माह में 22, 23 और 24 तारीख को श्रेष्ठ सावों के बाद फरवरी के प्रथम सप्ताह में बसंत पंचमी का अबूझ सावा है जिस पर भी गाइडलाइन का साया होने समूचे मारवाड़ में 2 हजार से अधिक विवाह समारोह फीके हो सकते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

IPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंपेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसऑस्ट्रेलिया के चुनावों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हारे, एंथनी अल्बनीज होंगे नए PM, जानें कौन हैं येगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दजापान में होगा तीसरा क्वाड समिट, 23-24 मई को PM मोदी का जापान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.